Home /News /bihar /

Bihar Assembly Byelection: तारापुर में NDA के लिए CM नीतीश ने मांगे वोट, लालू-राबड़ी पर साधा निशाना

Bihar Assembly Byelection: तारापुर में NDA के लिए CM नीतीश ने मांगे वोट, लालू-राबड़ी पर साधा निशाना

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सोमवार को तारापुर विधानसभा क्षेत्र के गाजीपुर में जेडीयू उम्मीदवार के लिए चुनाव प्रचार करने पहुंचे थे

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सोमवार को तारापुर विधानसभा क्षेत्र के गाजीपुर में जेडीयू उम्मीदवार के लिए चुनाव प्रचार करने पहुंचे थे

Bihar News: तारापुर विधानसभा क्षेत्र के गाजीपुर में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इशारों-इशारों में लालू यादव और राबड़ी देवी पर हमला बोलते हुए कहा कि पति-पत्नी के सरकार ने क्या किया, पहले के समय में बिहार में महिलाओं का क्या हाल था. हमारी सरकार ने महिलाओं का सम्मान किया

अधिक पढ़ें ...

मुंगेर. बिहार के मुंगेर जिले के तारापुर विधानसभा सीट का उपचुनाव (Tarapur Assembly Byelection) दिलचस्प मोड़ पर पहुंच गया है. सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने यहां से जेडीयू के उम्मीदवार अरुण कुमार सिंह के लिए पहली बार प्रचार किया. उन्होंने तारापुर (Tarapur) के गाजीपुर में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए जहां विरोधियों पर जमकर साधा निशाना. वहीं, उन्होंने अपने कार्यकाल में किये गये कार्यों को लोगों के समक्ष (सामने) रखा. नीतीश कुमार अपने कैबिनेट के मंत्री, विधायक, एमएलसी के साथ यहां चुनाव प्रचार करने पहुंचे थे.

उन्होंने इशारों-इशारों में लालू यादव और राबड़ी देवी पर हमला बोलते हुए कहा कि पति-पत्नी के सरकार ने क्या किया, पहले के समय में बिहार में महिलाओं का क्या हाल था. हमारी सरकार ने महिलाओं का सम्मान किया. वर्ष 2000 में किसी को रिजर्वेशन नहीं था. उन्होंने कहा कि बिहार पहला राज्य है जिसने पंचायती चुनाव में महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण है. हर खेत तक सिंचाई का पानी पहुंचाएंगे यह हमारा संकल्प है. मुख्यमंत्री नीतीश ने जनता से एकजुट होकर एनडीए प्रत्याशी को वोट देने की अपील की. उन्होंने कहा कि वोट दीजिएगा तब न काम करेंगे, इधर-उधर दीजिएगा तो और लोग मौज करेंगे, अपना विकास करेंगे.

वहीं, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ आए केंद्रीय मंत्री पशुपति नाथ पारस ने भी एनडीए के उम्मीदवार के लिए वोट मांगे. इस दौरान उन्होंने अपने भतीजे चिराग पासवान पर भी निशाना साधते हुए कहा कि हमने पहले ही उनको समझाया था कि हमें एनडीए के साथ रहना है. लेकिन पैराशूट से आये लोगों ने उन्हें अकेले चुनाव लड़ने की सलाह दी ताकि वो मुख्यमंत्री बन सकें. पारस ने कहा कि नीतीश कुमार ने दलित-महादलित की दूरी को एक किया है. वर्ष 1990 से 2005 तक राज्य में पति-पत्नी का राज था. उनके राज में पशुपालन घोटाला जैसा सबसे बड़ा घोटाला हुआ.

वहीं, इस दौरान चुनावी सभा के मैदान के बगल में स्थित मस्जिद में अजान के शुरू होने पर कुछ देर के लिए भाषण बंद कर पशुपति नाथ पारस लोगों को हिंदू-मुस्लिम भाई-भाई का पैगाम भी देते दिखे. बाद में उन्होंने अपने भाषण में कहा कि विरोधी दल के नेता छद्म लड़ाई करते हैं. यह लड़ाई विकास और विनाश के बीच में है. नीतीश राज में वंशवाद खत्म हुआ है. विरोधियों ने केवल गुंडों और बदमाशों को बढ़ाने का काम किया जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गरीबों को बढ़ाने का कार्य किया है.

बता दें कि तारापुर और कुशेश्वरस्थान विधानसभा सीट के लिए 30 अक्टूबर को उपचुनाव होना है. वोटों की गिनती दो नवंबर को होगी. अक्टूबर-नवंबर 2020 में हुए बिहार विधानसभा चुनाव में इन दोनों सीटों पर जेडीयू के विधायक जीत कर आए थे है लेकिन उनके निधन के बाद यह दोनों सीटों रिक्त हो गई हैं.

Tags: Assembly by election, Assembly bypoll, CM Nitish Kumar, Pashupati Kumar Paras

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर