बिहार: योगनगरी मुंगेर में योग दिवस मनाने पर लगा 'कोरोना का ग्रहण' 
Munger News in Hindi

बिहार: योगनगरी मुंगेर में योग दिवस मनाने पर लगा 'कोरोना का ग्रहण' 
मुंगेर में स्थित बिहार योग विद्यालय की स्थापना साल 1964 में हुई

मुंगेर (Munger) में बिहार योग विद्यालय साल 1964 में स्थापित किया गया. यह विद्यालय पूरे विश्व में योग (Yoga) का प्रचार-प्रसार करता रहा है. और आश्रम के द्वारा योग दिवस (Yoga Day) के मौके पर कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता रहा है.

  • Share this:
मुंगेर. बिहार के योगनगरी के रूप में मशहूर मुंगेर (Munger) में योग दिवस (Yoga Day) मनाने पर कोरोना (Corona) का ग्रहण लग गया है. हर साल योग दिवस पर यहां अलग ही माहौल होता है. मुंगेर में स्थित विश्व प्रसिद्ध बिहार योग विद्यालय (Bihar Yoga School) के द्वारा आश्रम से लेकर घरों के आंगन तक योग कार्यक्रम का आयोजित किया जाता रहा है. पर इस बार छठे विश्व योग दिवस के अवसर पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों पर कोरोना का असर साफ देखने को मिल रहा है. एक ओर योगाश्रम कोविड- 19 को लेकर अगले आदेश तक पूरी तरह बंद है, वहीं दूसरी ओर डीएम ने भी लोगों से अपील की है कि योग दिवस के दिन सावधानीपूर्वक और कम संख्या में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर कार्यक्रम करें, ताकि कोरोना संक्रमण न फैले. कल यानी रविवार को विश्व योग दिवस (International Yoga Day) है.

1964 में स्थापित हुआ योग विद्यालय

मुंगेर में बिहार योग विद्यालय साल 1964 में स्थापित किया गया. यह विद्यालय सत्यानन्द योग के नाम से पूरे विश्व में योग का प्रचार-प्रसार करता रहा है. और आश्रम के द्वारा योग दिवस के मौके पर कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता  रहा है. ताकि योग को जन-जन तक पहुंचाया जा सके. पर इस बार छठे योग दिवस के मौके पर योग नगरी मुंगेर में कोरोना का असर कार्यक्रमों पर असर दिखाई देगा. कोरोना के संक्रमण से संन्यासियों को बचाने के लिए योग आश्रम को अगले आदेश तक के लिए पूरी तरह बंद कर दिया गया है.



योग आश्रम से 40 वर्षो से जुड़े शिव कुमार रुंगटा बताते है कि कोरोना काल में इस बार आश्रम के द्वारा सार्वजनिक रूप से कोई कार्यक्रम नहीं किया जायेगा. आश्रम में सन्यासियों के द्वारा ही योग किया जाएगा. वहीं आश्रम की ओर से योग करने वालों के लिए संदेश भिजवाया गया है कि वे बिना भीड़ लगाए और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए योग दिवस मनाएं.
योग दिवस पर बिहार स्कूल ऑफ योगा (योग आश्रम) ही नहीं बल्कि पूरा मुंगेर ही उस दिन योग के रंग में रंग जाता है. मुख्यालय से लेकर प्रखंड स्तर तक, क्या संस्थान या क्या आम लोग, सभी उस दिन योग को लेकर कार्यक्रमों का आयोजन करते हैं.

योग दिवस को लेकर डीएम का ये निर्देश 

मुंगेर जिलाधिकारी राजेश मीणा ने बताया कि योग दिवस और मुंगेर का गहरा संबंध रहा है. योग दिवस पर यहां कई कार्यक्रमों का आयोजन होता आया है. पर इस बार योग दिवस पर सीमित संख्या में ही कार्यक्रमों का आयोजन किया जायेगा. ताकि कोरोना के संक्रमण को रोका जा सके. डीएम ने लोगों से अनुरोध भी किया कि वे योग दिवस अपने-अपने घरों में मनाएं.

कोरोना काल में इसलिए योग जरूरी 

योग निरोग रहने का बेजोड़ माध्यम है. और योग को जन- जन तक पहुंचाने में मुंगेर योग आश्रम की महत्वपूर्ण भूमिका रही है. भाजपा जिलाध्यक्ष राजेश जैन ने बताया कि इस बार भाजपा की ओर से योग दिवस पर कार्यकम आयोजित होंगे, पर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ हाइजीन का पूरी तरह ध्यान रखा जायेगा. कोरोना संक्रमण से बचने के लिए योग के जरिये लोग अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ा सकता है. लिहाजा कोरोना संकट के इस दौर में योग लोगों के लिए बेहद जरूरी है.

 

 

 

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज