मुजफ्फरपुर में मनाई गई स्वामी सहजानंद सरस्वती की 68वीं पुण्यतिथि
Muzaffarpur News in Hindi

मुजफ्फरपुर में मनाई गई स्वामी सहजानंद सरस्वती की 68वीं पुण्यतिथि
स्वामी सहजानंद सरस्वती की पुण्यतिथि

समारोह में स्वामी सहजानंद सरस्वती के किसान और मजदूर चिंतन के दर्शन को याद करते हुए वक्ताओं ने किसान और मजदूरों की समस्या और उसके निदान को लेकर अपने विचार व्यक्त किये.

  • Share this:
किसान आंदोलन के अग्रणी रहे स्वामी सहजानंद सरस्वती की 68वीं पुण्यतिथि मुजफ्फरपुर में मनाई गई. इस मौके पर आयोजित किसान मजदूर समागम का आयोजन किया गया. समारोह का उद्घाटन गोवा की राज्यपाल डॉ मृदुला सिन्हा ने किया. समारोह में स्वामी सहजानंद सरस्वती के किसान और मजदूर चिंतन के दर्शन को याद करते हुए वक्ताओं ने किसान और मजदूरों की समस्या और उसके निदान को लेकर अपने विचार व्यक्त किये.

समारोह में किसान और मजदूरों के बीच की खाई को खत्म करने और किसान-मजदूरों की समस्याओं को प्रभावी ढंग से उठाने का निर्णय लिया गया. समारोह को संबोधित करते हुए गोवा की राज्यपाल मृदुला सिन्हा ने कहा कि बिहार के शैक्षणिक पाठ्यक्रमों में स्वामी सहजानंद सरस्वती की जीवनी को पढ़ाया जाना चाहिए जिससे नई पीढ़ी उनके कृत्तित्व और चिंतन से अवगत हो सके.

ये भी पढ़ें- बिहार : बेगूसराय में जहरीली शराब पीने से 4 लोगों की मौत



किसानों और मजदूरों को एक-दूसरे का पूरक बताते हुए राज्यपाल ने कहा कि स्वामी सच्चे अर्थों में समाज के सभी वर्गों के नेता थे. किसानों की दयनीय हालत पर चिंता जताते हुए वक्ताओं ने राष्ट्र और समाज की उन्नति के लिए खेती पर निर्भर किसान और मजदूरों की चारों तरफ से विकास के लिए सरकार से पहल करने की मांग की.
ये भी पढ़ें- यशवंत सिन्हा ने 'आप' की मोदी विरोधी रैली से किनारा किया, शत्रुघ्न सिन्हा करेंगे शिरकत

समारोह में बिहार सरकार के मंत्री सुरेश शर्मा , सांसद अजय निषाद , गोपालनारायण सिंह, बोचहां की विधायक बेबी कुमारी , कुढ़नी के विधायक केदार गुप्ता और बी आर ए बिहार विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ अमरेन्द्र नारायण यादव ने भी भाग लिया. ( मुजफ्फरपुर से प्रवीण ठाकुर की रिपोर्ट)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज