• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • अब बीएड में छात्रों के लिए जरूरी होगी 80 फीसदी उपस्थिति

अब बीएड में छात्रों के लिए जरूरी होगी 80 फीसदी उपस्थिति

अब बीएड कोर्स में एडमिशन लेने वाले छात्रों के लिए 80 फीसदी उपस्थिति कॉलेजों में अनिवार्य होगा. यदि कोई छात्र इसे पूरा नहीं करता है तो छात्रों को परीक्षा नहीं देने दिया जाएगा.

अब बीएड कोर्स में एडमिशन लेने वाले छात्रों के लिए 80 फीसदी उपस्थिति कॉलेजों में अनिवार्य होगा. यदि कोई छात्र इसे पूरा नहीं करता है तो छात्रों को परीक्षा नहीं देने दिया जाएगा.

अब बीएड कोर्स में एडमिशन लेने वाले छात्रों के लिए 80 फीसदी उपस्थिति कॉलेजों में अनिवार्य होगा. यदि कोई छात्र इसे पूरा नहीं करता है तो छात्रों को परीक्षा नहीं देने दिया जाएगा.

  • Share this:
    अब बीएड कोर्स में एडमिशन लेने वाले छात्रों के लिए 80 फीसदी उपस्थिति कॉलेजों में अनिवार्य होगा. यदि कोई छात्र इसे पूरा नहीं करता है तो छात्रों को परीक्षा नहीं देने दिया जाएगा.

    दरअसल, बाबासाब भीमराव अंबेडकर बिहार यूनिवर्सिटी में दो साल के बीएड कोर्स का रेगुलेशन तैयार हो गया है. इसे मौजूदा सत्र में एकेडमिक काउंसिल से मंजूरी लेकर में लागू कर दिया जाएगा.

    अभी तक 75 फीसदी उपस्थिति अनिवार्य थी, मगर एनसीटीई के नियमों का हवाला देते हुए छात्रों की उपस्थिति पांच फीसदी बढ़ा दी गई है. अब छात्रों को फर्स्‍ट क्लास व सेकेंड क्लास के लिए यूनिवर्सिटी की ओर से पांच नंबर का ग्रेस मिलेगा.

    अगर पांच अंकों के कारण किसी छात्र या फर्स्‍ट या सेकेंड क्लास छूट रहा हो तो उसे ग्रेस अंक दिए जाएंगे. फर्स्‍ट ईयर में नौ पेपरों में से सात में पास करने वाले छात्र ही सेकेंड ईयर में जा सकते हैं, लेकिन सेकेंड ईयर में कुल 18 पेपर पास करने पर ही रिजल्ट जारी किया जाएगा.

    इसके साथ ही आंतरिक परीक्षा व थ्यौरी, दोनों में पेपर में 50 फीसदी अंक आना जरूरी है. कोर्स की वैधता चार साल की होगी. इस दौरान छात्रों को बीएड कोर्स पूरा करना आवश्‍यक है. दिलचस्‍प बात यह है कि बीएड कोर्स में फिर से मूल्यांकन का कोई प्रावधान नहीं है.

    आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज