लाइव टीवी

नाबालिग बच्ची से रेप के आरोपी मौलाना की अब तक गिरफ्तारी नहीं, महिला आयोग की टीम करेगी दौरा

News18 Bihar
Updated: November 12, 2019, 10:15 AM IST
नाबालिग बच्ची से रेप के आरोपी मौलाना की अब तक गिरफ्तारी नहीं, महिला आयोग की टीम करेगी दौरा
बिहार के मुजफ्फरपुर के कटरा में रेप के आरोपी मौलाना मकबूल पर अब तक पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

आरोप है कि पीड़िता के साथ इलाके के एक मौलवी मो. मकबूल और एक अन्य युवक मो. शोएब नें दुष्कर्म किया था, लेकिन पुलिस का कहना है कि मौलवी के खिलाफ अभी तक कोई सबूत नहीं मिले हैं.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: November 12, 2019, 10:15 AM IST
  • Share this:
मुजफ्फरपुर. एक नाबालिग लड़की (Minor Girl Rape) के साथ सामूहिक दुष्कर्म कर कुंवारी मां बनाने के मामले में एसएसपी जयंतकांत (SSP Jayantkant) ने आरोपी के तत्काल गिरफ्तारी के आदेश दिए हैं. एसएसपी ने कहा कि कांड सत्य पाया गया है. हालांकि पुलिस की तफ्तीश (Investigation) में एक ही आरोपी पर लगाया गया आरोप सत्य पाया गया है, जबकि पीड़िता का आरोप है कि दो लोगों ने उसे हवस का शिकार बनाया था.

दरअसल आरोप है कि पीड़िता के साथ इलाके के एक मौलवी मो मकबूल और एक अन्य युवक मो. शोएब नें दुष्कर्म किया था, लेकिन पुलिस का कहना है कि मौलवी के खिलाफ अभी तक कोई सबूत नहीं मिले हैं. हालांकि फिलहाल यह कांड युवक के खिलाफ सत्य पाया गया है. एसएसपी ने कहा कि मौलवी की भूमिका की पर पुलिस अभी काम कर रही है.

पीड़ित परिवार को अलग-अलग तरीके से प्रताड़ित करने के सवाल पर एसएसपी ने कहा कि पुलिस पीड़ितों को पूरी सुरक्षा देगी और जो लोग उन्हें डराने धमकाने या हिंसा करने के दोषी पाए जाएंगे उनपर भी कार्रवाई होगी.

आरोपी मौलाना और शोएब (फाइल फोटो)
आरोपी मौलाना और शोएब (फाइल फोटो)


न्यूज18 की रिपोर्ट पर राज्य महिला आयोग के संज्ञान के बाद पुलिस और भी ऐक्टिव हो गयी है. हालांकि इस जघन्य कांड में एक भी गिरफ्तारी नही होने से पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठने लगे हैं. जानकारी के अनुसार आयोग की टीम बुधवार को इस मामले की जांच के लिए मुजफ्फरपुर पहुंच रही है.

बता दें कि रेप के आरोपी मौलाना मकबूल को बचाने के लिए गांव वालों ने चंदा जुटाए जाने की खबर सामने आई थी. यह खबर भी सामने आई थी कि रेप पीड़िता और उसके परिवार को सामाजिक बहिष्कार की पीड़ा झेलनी पड़ रही है.

गौरतलब है कि बीते हफ्ते दोनों पूरे गांव ने मां बनने पर रेप पीड़िता को उसके परिवार को ही  कसूरवार ठहरा दिया था. इसके बाद ग्रामीणों ने डेढ़ माह के बच्चे मां को से अलग करने के लिए 20 हजार रुपए कीमत भी तय कर दी थी.
Loading...

तब पीड़ित नाबालिग के पिता ने नवजात और आरोपियों के डीएनए टेस्ट (DNA Test) की मांग की थी. वहीं, पुलिस ने जांच के लिए विशेष टीम गठित कर दी थी. आरोप है कि इस मामले पर 4 बार पंचायत बैठ चुकी है जिसमें हर बार पीड़िता से कसूरवार का नाम पूछा गया तो उसने शोएब का नाम लिया, लेकिन मौलाना के बारे में कुछ नहीं कहा.

इस बारे में पीड़ित परिवार का कहना था कि लड़की ने मौलाना के डर से पंचायत में उसका नाम नहीं लिया था. लेकिन बाद में जब मौलाना के नाम का खुलासा हुआ तो पंचायत उसकी गलती मानने को तैयार नहीं हुआ. पंचायत में शामिल सदस्य इस बात पर अड़े थे कि लड़की ने पहले ही क्यों नहीं मौलाना का नाम बताया.

 

रिपोर्ट- सुधीर कुमार

ये भी पढ़ें-

रेप के आरोपी मौलाना को बचाने के लिए गांव वालों ने जुटाया चंदा

क्या नियोजित शिक्षकों के 'गुस्से' से डर रहे हैं CM नीतीश?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मुजफ्फरपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 12, 2019, 10:09 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...