मुजफ्फरपुर: ध्वस्त किया जाएगा ब्रजेश ठाकुर का 'शेल्टर होम'

मुजफ्फरपुर के साहू रोड पर ब्रजेश ठाकुर का शेल्टर होम उनकी मां मनोरमा देवी के नाम से है. यह बिल्डिंग बायलॉज के विरुद्ध बनाया गया है जिसपर सुप्रीम कोर्ट ने आपत्ति जताई थी. अब इसको ध्वस्त करने के लिए नगर निगम प्रशासन कागजी प्रक्रिया को तेजी से पूरा करने में जुटा है.

News18 Bihar
Updated: December 7, 2018, 3:44 PM IST
मुजफ्फरपुर: ध्वस्त किया जाएगा ब्रजेश ठाकुर का 'शेल्टर होम'
ब्रजेश ठाकुर (फाइल फोटो)
News18 Bihar
Updated: December 7, 2018, 3:44 PM IST
मुजफ्फरपुर शेल्टर होम को ध्वस्त किया जाएगा जिसकी कार्रवाई 10 दिसंबर के बाद शुरू की जाएगी. नगर आयुक्त ने इसके लिए जिले के डीएम को रिमाइंडर लेटर लिखा है. इसमें बालिका गृह से समान हटाने, वीडियोग्राफी कराने और रिसीवार नियुक्त करने के लिए रिक्वेस्ट भेजा गया है. दरअसल इस भवन को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने आपत्ति की थी कि यह बिना नक्शा पास के बना हुआ है.

साहू रोड पर ब्रजेश ठाकुर का शेल्टर होम उनकी मां मनोरमा देवी के नाम से है. जो बिल्डिंग बायलॉज के विरुद्ध बनाया गया है. अब इसको ध्वस्त करने के लिए नगर निगम प्रशासन कागजी प्रक्रिया को तेजी से पूरा करने में जुटा है. आपको बता दें कि 10 नवंबर को मामले की सुनवाई के बाद नगर आयुक्त संजय दुबे ने एक महीने का समय मांगा था. इसके लिए 10 दिसंबर तक आखिरी तिथि निर्धारित की गई थी.

ये भी पढ़ें-  मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस: सुप्रीम कोर्ट ने ब्रजेश ठाकुर के मेडिकल एग्जामिनेशन का दिया आदेश

आपको बता दें कि 25 अक्तूबर को सुप्रीम कोर्ट में दर्ज एसएलपी में पारित आदेश के बाद नगर आयुक्त ने 10 नवंबर को बालिका गृह भवन को ध्वस्त करने का आदेश दिया था. इससे पहले बीते हफ्ते में मुजफ्फरपुर के जिलाधिकारी ने इसके लिए आदेश भी जारी किया था.

गौरतलब है कि जिलाधिकारी ने मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामले के मुख्य आरोपित ब्रजेश ठाकुर की पत्नी और शेल्टर होम की संचालक एनजीओ के छह अन्य सदस्यों की संपत्ति भी अटैच करने का आदेश दिया है. डीएम ने आदेश जारी करते हुए कहा है कि सभी संपत्ति उसी एनजीओ के नाम पर जोड़ दिए जाएं, जो एनजीओ इस आश्रय घर को चलाता है.

इनपुट- प्रवीण कुमार ठाकुर

ये भी पढ़ें- उपेंद्र कुशवाहा ने नहीं खोले पत्ते, राहुल गांधी से मिलने के बाद लेंगे NDA छोड़ने का फैसला!
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->