लाइव टीवी

Coronavirus का कहर थमा नहीं, चमकी बुखार का मिला मरीज, 2019 में मरे थे 111 बच्चे
Muzaffarpur News in Hindi

News18 Bihar
Updated: March 28, 2020, 11:17 AM IST
Coronavirus का कहर थमा नहीं, चमकी बुखार का मिला मरीज, 2019 में मरे थे 111 बच्चे
मुजफ्फरपुर के SKMCH में चमकी-बुखार से पीड़ित बच्चा भर्ती (प्रतीकात्मक तस्वीर)

मुजफ्फरपुर के श्री कृष्ण मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पीटल (SKMCH) में चमकी बुखार से पीड़त बच्चे का इलाज चल रहा है. अधीक्षक डॉ. एसके साही ने बताया कि बच्चे में AES के ही लक्षण हैं.

  • Share this:
मुजफ्फरपुर. बिहार कोरोना वायरस के संक्रमण (Corona virus infection) का खतरा सिर पर तलवार लिए खड़ा है तो वहीं दूसरी ओर इंसेफलाइटिस बुखार ने दस्तक दे ही. दरअसल गर्मी की दस्तक के साथ ही मुजफ्फरपुर में इंसेफलाइटिस बुखार (Acute encephalitis syndrome) यानी एईएस (AES) का पहला केस मिल गया है. मुजफ्फरपुर के सकरा प्रखंड के एक साढ़े तीन साल के बच्चे में एईएस की पुष्टि कर दी गई है. बता दें कि ये एईएस वही है जिसे हम आप चमकी बुखार के नाम से भी जानते हैं.

SKMCH अधीक्षक ने की पुष्टि

जांच में एईएस की पुष्टि होने के के बाद मुजफ्फरपुर के श्री कृष्ण मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (SKMCH) में भर्ती किया गया है. डॉक्टरों की टीम बच्चे के इलाज में जुट गई है. अधीक्षक डॉ एसके साही ने बताया कि बच्चे में एईएस के ही लक्षण हैं. गौरतलब है कि पिछले साल भी सकरा प्रखंड के बहुत बड़ी संख्या में बच्चे चमकी बुखार से पीड़ित हुए थे.



नई रणनीति से मुकाबला



चमकी बुखार का पहला मामला आने के साथ ही मुजफ्परपुर का  SKMCH अलर्ट मोड में आ गया है और AES वार्ड अलग से तैयार किया गया है. एईएस को लेकर स्वास्थ्य विभाग भी अलर्ट पर है और  इस बार इस चुनौती का सामना करने के लिए विभाग ने नई रणनीति बनाई है.

स्वास्थ्यकर्मियों को प्रशिक्षण

इसके तहत आशा, एएनएम, ग्रामीण चिकित्सकों को जागरूक व प्रशिक्षित किया गया है. बताया गया कि  पीएचसी तक तय मानक के मुताबिक दवा व उपकरण उपलब्ध है. स्वास्थ्यकर्मियों को प्रशिक्षण दिया गया है. स्वास्थ्य विभाग के साथ इस बार यूनिसेफ की टीम बीमारी से बचाव में सहयोग कर रही है.

पिछले साल 111 की हुई थी मौत

बता दें कि वर्ष 2019 के गर्मी के दिनों में बच्चों के लिए एईएस कहर बनकर टूटा था. पिछले साल एईएस से 431 बच्चे बीमार होकर भर्ती हुए थे. 111 से अधिक की मौत हो गई थी, वहीं, 320 बच्चे अस्पताल से ठीक होकर लौटे थे. हालांकि इनमें से छह बच्चे दिव्यांगता से जूझ रहे हैं.

(इनपुट- रजनीश कुमार)

ये भी पढ़ें : CORONA UPDATE: बिहार में 1760 हुई कोरोना संदिग्धों की संख्या, 9 पॉजिटिव मिले

Covid-19: बिहार में टूट रहा मिथक! 9 संक्रमित मरीजों में 8 की उम्र 38 से कम 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मुजफ्फरपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 28, 2020, 10:14 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading