मुजफ्फरपुर में खतरे के निशान से ऊपर बह रही बागमती, NDRF-SDRF को किया गया अलर्ट
Muzaffarpur News in Hindi

मुजफ्फरपुर में खतरे के निशान से ऊपर बह रही बागमती, NDRF-SDRF को किया गया अलर्ट
मुजफ्फरपुर में बागमती नदी खतरे के निशान के ऊपर बह रही है. इससे कई इलाकों में बाढ़ का खतरा पैदा हो गया है.

मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur) में बाढ़ (Flood) के खतरे को देखते हुए डीएम ने अधिकारियों और कर्मियों की छुट्टी रद्द कर दी है. अधिकारियों को नदियों से सटे इलाकों पर नजर बनाये रखने को कहा गया है.

  • Share this:
मुजफ्फरपुर. लगातार हो रही बारिश (Rain) के चलते बिहार के कई जिलों में बाढ़ (Flood) का खतरा मंडराने लगा है. नदियां उफान पर हैं. मुजफ्फरपुर में बागमती नदी (Bagmati River) औराई के कटोंझा और गायघाट के बेनीबाद में खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. इससे बाढ़ के हालात पैदा हो गये हैं. औराई- बेनीबाद पीडब्ल्यूडी सड़क पर 2 फीट पानी बह रहा है. नवादा, बकुची और पतारी गांव में एक किलोमीटर तक यह सड़क जलमग्न है. जानकारी के मुताबिक बागमती नदी कटोरिया और बेनीबाद में खतरे के निशान से एक मीटर ऊपर बह रही है.

औराई, कटरा और गायघाट प्रखंड होता है प्रभावित

बागमती नदी के जलस्तर में बढ़ोतरी से मुजफ्फरपुर जिले का औराई, कटरा और गायघाट का इलाका हर साल प्रभावित होता है. औराई में बागमती तटबंध के भीतर बसी हजारों की आबादी बाढ़ की चपेट में आ जाती है. अबतक इनलोगों का पुनर्वास नहीं हो सका है. वहीं कटरा में 14 पंचायत के लोग बागमती नदी के उफान से प्रभावित होते हैं. गायघाट प्रखंड का भी आधा दर्जन पंचायत बाढ़ की त्रासदी झेलता रहा है.



कटरा में एनडीआरएफ की टीम तैनात 
जिला प्रशासन ने इन इलाकों में एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीम को मुस्तैद रहने को कहा है. कटरा में एनडीआरएफ की टीम को तैनात भी कर दिया गया है. नदी के जलस्तर बढ़ने से इलाके में सब्जी की फसल प्रभावित हुई है. आवागमन को लेकर भी लोगों की परेशानी काफी बढ़ गई है.

मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है कि 12 जुलाई तक नेपाल के तराई वाले इलाकों के अलावा उत्तर बिहार में भारी बारिश हो सकती है. पिछले 3 दिनों से लगातार हो रही बारिश से बागमती के अलावा गंडक और बूढ़ी गंडक नदी के जलस्तर में भी तेजी से बढ़ोतरी हुई है.

अधिकारियों और कर्मियों की छुट्टी रद्द

संभावित बाढ़ को देखते हुए मुजफ्फरपुर के डीएम ने जिले के अधिकारियों और कर्मियों की छुट्टी रद्द कर दी है. मौसम विभाग की चेतावनी को देखते हुए बाढ़ प्रभावित वाले इलाकों में अधिकारियों को पैनी नजर बनाए रखने को कहा गया है. साथ ही तटबंध की सुरक्षा के लिए जल संसाधन विभाग के अभियंताओं के साथ ही प्रत्येक किलोमीटर पर होमगार्ड के जवानों की तैनाती की गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading