Bihar Elections: जेल से छूटने पर महागठबंधन उम्मीदवार बोले- ऐसे केस में गिरफ्तार किया जिसकी जानकारी भी नहीं थी

आफताब आलम को 15 अक्टूबर को नामांकन के दौरान गिरफ्तार किया गया था. (फाइल फोटो)
आफताब आलम को 15 अक्टूबर को नामांकन के दौरान गिरफ्तार किया गया था. (फाइल फोटो)

Bihar Assembly Elections 2020: महागठबंधन प्रत्याशी आफताब आलम ने कहा कि उनकी गिरफ्तारी से औराई की जनता उनके खिलाफ चल रही राजनीतिक साजिश को समझ चुकी है.

  • Share this:
मुजफ्फरपुर. जिले के औराई विधानसभा क्षेत्र (Aurai Assembly Constituency) से महागठबंधन प्रत्याशी आफताब आलम (Aftab Alam) को कोर्ट से जमानत (Bail) मिलने के बाद जेल से रिहा कर दिया गया. आफताब आलम जेल से निकलने के बाद अपने पूरे दमखम के साथ चुनाव प्रचार में जुट गए हैं. उन्होंने बताया कि उनकी सीधी लड़ाई बीजेपी से है और पिछली बार की ही तरह इस चुनाव में भी वह बीजेपी उम्मीदवार को शिकस्त देंगे. उन्होंने कहा कि साजिश के तहत नामांकन के दिन कलेक्‍ट्रेट परिसर से उन्हें एक ऐसे केस में गिरफ्तार कराया गया, जिसकी उन्हें जानकारी भी नहीं थी. इस गिरफ्तारी से औराई की जनता उनके खिलाफ चल रही राजनीतिक साजिश को समझ चुकी है. उनके समर्थकों की संख्या अब पहले से ज्यादा हो गई है.

महागठबंधन में औराई की सीट भाकपा माले के हिस्से में गई है. इस सीट पर भाकपा माले ने इंसाफ मंच के उपाध्यक्ष आफताब आलम को मैदान में उतारा है.

भाकपा माले के मुजफ्फरपुर नगर सचिव और इंसाफ मंच के अध्यक्ष सूरज कुमार ने कहा कि बीते 8 अगस्त को कटरा इलाके में एक युवक की हत्या कर शव को पेड़ से लटका दिया गया था. आफताब आलम उस हत्या के खिलाफ हो रहे आंदोलन में शामिल हुए थे, क्योंकि उस इलाके में कई हत्याएं हो चुकी थीं. इसलिए लोग वरीय अधिकारियों को मौके पर बुलाने की मांग पर अड़े हुए थे. इसी प्रदर्शन के मामले में कटरा पुलिस ने आफताब आलम का आरोपी बनाते हुए मामला दर्ज कर लिया था. इसकी जानकारी भी उन्हें नहीं थी.



बता दें कि 14 अक्टूबर को आफताब आलम के खिलाफ वारंट जारी किया गया और 15 अक्टूबर को नामांकन के दौरान पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज