लाइव टीवी
Elec-widget

M.Ed की परीक्षा के लिए इस विश्वविद्यालय में रात को बुलाए गए कैंडिडेट्स, एडमिट कार्ड वायरल

News18 Bihar
Updated: November 17, 2019, 11:05 AM IST
M.Ed की परीक्षा के लिए इस विश्वविद्यालय में रात को बुलाए गए कैंडिडेट्स, एडमिट कार्ड वायरल
परीक्षा को लेकर विश्वविद्यालय द्वारा जारी किया गया एडमिट कार्ड

पूरा मामला बिहार के मुजफ्फरपुर (Muzafffarpur) से जुड़ा है. इस घटना के बाद प्रवेश पत्र (Admit Card) जारी करने वाले परीक्षा नियंत्रक डॉ मनोज कुमार ने सार्वजनिक रूप से स्वीकार किया है कि यह परीक्षा विभाग की भूल है.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: November 17, 2019, 11:05 AM IST
  • Share this:
मुजफ्फरपुर. बिहार के मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur) स्थित बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के परीक्षा विभाग की बड़ी करतूत उजागर हुई है. विश्वविद्यालय के परीक्षा विभाग से जारी एक परीक्षा के एडमिट कार्ड (Admit Card) पर लिखे तथ्यों को सत्य माना जाए तो विश्वविद्यालय ने रात्रि 10:30 बजे छात्र-छात्राओं को परीक्षा के लिए बुलाया है.

M.Ed की परीक्षा से जुड़ा है मामला

मामला एमएड की प्रवेश परीक्षा से जुड़ा है. दरअसल रविवार को विश्वविद्यालय में एमएड पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए जांच परीक्षा होनी है. विश्वविद्यालय ने इस परीक्षा के लिए जो प्रवेश पत्र जारी किया है उसमें परीक्षा का समय सुबह 11:00 बजे बताया गया है लेकिन प्रवेश पत्र पर दिए गए जनरल इंस्ट्रक्शंस में पहला इंस्ट्रक्शन यह है कि परीक्षार्थी रात्रि 10:30 बजे तक अपने-अपने परीक्षा केंद्रों पर रिपोर्ट कर देंगे.

वायरल हुआ एडमिट कार्ड

जाहिर है कि रविवार की परीक्षा में शामिल होने के लिए आवेदकों को शनिवार की रात्रि 10:30 बजे तक अपने अपने केंद्रों पर रिपोर्ट कर देना था. एडमिट कार्ड के मुताबिक वे अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हो पाएंगे .परीक्षा विभाग की इस बड़ी त्रुटि की चर्चा मुजफ्फरपुर में जोरों पर है. इस मामले में प्रवेश पत्र जारी करने वाले परीक्षा नियंत्रक डॉ मनोज कुमार ने सार्वजनिक रूप से स्वीकार किया है कि यह परीक्षा विभाग की भूल है.

परीक्षा नियंत्रक बोले

न्यूज़ 18 को भेजे मैसेज में परीक्षा नियंत्रक डॉ मनोज कुमार ने इस त्रुटि के प्रति ध्यान दिलाने के लिए आभार व्यक्त किया है. हालांकि उन्होंने यह भी कहा है कि इस भूल को सुधार लेने के लिए पर्याप्त समय है. इससे परीक्षा पर कोई असर नहीं पड़ेगा. इस मामले में विश्वविद्यालय के शिक्षकों का कहना है कि विश्वविद्यालय से किसी भी पत्र के जारी होने से पहले डिक्टेशन होता है प्रूफ रीडिंग होती है. अधिकारी उसे ओके करते हैं उसके बाद वह पत्र निर्गत होता है.
Loading...

वीसी बोले

पब्लिक डोमेन में कोई पत्र डालने से पहले भी एक बार उसकी चेकिंग होती है लेकिन कई स्तर की जांच के बाद भी कोई गड़बड़ी गंभीर है. इस मामले में विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ आर के मंडल ने जांच की बात कही है.

इनपुट- सुधीर कुमार

ये भी पढ़ें- डेंगू से दहशत में है गोपालगंज: 9 लोगों की मौत, 300 मरीज अब भी चपेट में

ये भी पढ़ें- प्रेमिका से मिलने पहुंचे युवक को महिलाओं ने दबोचा, फिर पीट-पीट कर मार डाला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मुजफ्फरपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 17, 2019, 10:48 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...