मुजफ्फरपुर: प्रॉपर्टी हड़पने ममेरे भाई ने कराया 11 साल की बच्ची का किडनैप, मांगी 1 करोड़ की फिरौती
Muzaffarpur News in Hindi

मुजफ्फरपुर: प्रॉपर्टी हड़पने ममेरे भाई ने कराया 11 साल की बच्ची का किडनैप, मांगी 1 करोड़ की फिरौती
पुलिस ने एक महिला को भी गिरफ्तार किया है. (फाइल फोटो)

बताया जा रहा है कि 11 साल की बच्ची को उसके रिश्तेदारों ने ही अगवा (Kidnap) किया था. फिर मां के फोन में कॉल कर एक करोड़ की फिरौती (Ransom) मांगी थी. 

  • Share this:
मुजफ्फरपुर. बिहार के मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur) में मुफ्त की संपत्ति की खातिर हैवानों ने रिश्तों का कत्ल कर दिया. जमीन के चंद टुकड़ों की लालच में 11 साल की बच्ची को उसके ननिहाल के रिश्तेदारों ने अगवा (Kidnap) कर लिया. फिर उसके गरीब मां-बाप से 1 करोड़ की फिरौती भी मांगी. लेकिन समय रहते मुजफ्फरपुर पुलिस ने न सिर्फ मासूम को बरामद कर लिया, बल्कि एक महिला समेत 9 आरोपियों को भी दबोचा. वहीं पुलिस ने एक बाइक भी बरामद की है जिससे मासूम को अगवा किया गया था. घटना साहेबगंज थाना के जिराती टोला की है. गिरफ्तार अपहर्ताओं में बच्ची के मामा के दो बेटे राहुल और रोहित के अलावे उसका मौसा सुंदर यादव भी शामिल है.

दरअसल, बीते रविवार को साहेबगंज के जिराती टोला से 11 साल की बच्ची को दो बाइक सवार युवकों ने अगवा कर लिया. मासूम को उसके मामा मुनिलाल यादव के बेटे रोहित और राहुल ने रुपये देने के लिए फुसला कर अगवा कर दिया. कहानी कुछ ऐसी है कि बच्ची के नाना योगेंद्र राय साहेबगंज थाना के जिराती टोला के निवासी हैं. योगेंद्र राय की दो बेटियां हैं और कोई बेटा नहीं है. उनकी सेवा के लिए एक बेटी चंपा देवी उनके साथ रहती है. योगेंद्र राय ने मई महीने में नाती चाहत को कुछ जमीन गिफ्ट की थी. यह बात योगेंद्र राय के दूसरी बेटी के पति सुंदर राय को हज़म नहीं हुई. सुंदर राय ने फिर साजिश शुरू कर दी.

आरोपी ऐसे हुए गिरफ्तार



सुंदर राय ने अपने ससुर योगेंद्र राय के भाई महेंद्र राय के बेटे मुन्नीलाल राय के साथ मिलकर साजिश रची. बच्चे को अगवा करने का जिम्मा मुन्नीलाल के बेटे राहुल और रोहित को दिया गया. रविवार को रोहित ने अपने दो साथी गुड्डू और दिलीप को साहेबगंज बुलाया. रोहित ने चाहत को रुपये दिलाने के बहाने गुड्डू और दिलीप के साथ भेज दिया. उसके बाद दिलीप चाहत को लेकर फरार हो गया. रविवार की शाम जब चाहत की मां के मोबाइल पर एक करोड़ की फिरौती का कॉल आया तो सबके होश उड़ गए. मुज़फ़्फ़रपुर पुलिस को जब इस कांड की जानकारी मिली तो पुलिस भी दंग रह गई.


ये भी पढ़ें: Bihar Election 2020: आखिरकार जीतन राम मांझी ने थामा NDA का हाथ, बोले- लालू के चक्कर में...

एसएसपी जयंतकांत ने सिटी एसपी नीरज कुमार सिंह के लीडरशिप में तत्काल छापामार दस्ते का गठन कर दिया. दो दिनों की कड़ी मेहनत के बाद अगवा चाहत को शिवहर के तरियानी से बरामद कर लिया गया. किडनैपर ने चाहत को तरियानी में एक महिला की देखरेख में रखा था. पुलिस ने उस महिला को भी गिरफ्तार कर लिया है. इस मामले में साजिशकर्ता  मौसा सुंदर यादव और चाहत के ममेरे भाई रोहित और राहुल को भी दबोच लिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज