Home /News /bihar /

शेल्टर होम केस: 21 दिसंबर से पहले CBI दायर कर सकती है चार्जशीट

शेल्टर होम केस: 21 दिसंबर से पहले CBI दायर कर सकती है चार्जशीट

जल्दी ही चार्जशीट दायर कर सकती है CBI

जल्दी ही चार्जशीट दायर कर सकती है CBI

सामाजिक सुरक्षा कोषांग की तत्कालीन निदेशक रोजी रानी, मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर का ड्राइवर विजय तिवारी और उसका एक कर्मचारी गुड्डू की गिरफ्तारी की 90 दिन की समय सीमा 20 दिसंबर को पूरी हो रही है. अगर समय सीमा के भीतर चार्जशीट दायर नहीं होती है तो IPC की धारा 167 (2) के तहत इन्हें प्राकृतिक तौर पर जमानत मिल जाएगी.

अधिक पढ़ें ...
    मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन उत्पीड़न कांड में जेल में बंद आरोपी अश्विनी की जमानत याचिका पर आज सुनवाई होगी. ये सुनवाई जिले के विशेष पॉक्सो कोर्ट में होगी. इस बीच खबर ये है कि शेल्टर होम केस में सीबीआई 21 दिसंबर से पहले चार्जशीट दायर कर सकती है. दरअसल जेल में बंद तीन अभियुक्तों की 90 दिन की समय सीमा 21 दिसंबर को पूरी हो रही है. अगर समय सीमा के भीतर चार्जशीट दायर नहीं की गई तो इन्हें जमानत मिल सकती है.

    गौरतलब है कि सामाजिक सुरक्षा कोषांग की तत्कालीन निदेशक रोजी रानी, मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर का ड्राइवर विजय तिवारी और उसका एक कर्मचारी गुड्डू की गिरफ्तारी की 90 दिन की समय सीमा 20 दिसंबर को पूरी हो रही है. ऐसे में अगर समय सीमा के भीतर चार्जशीट दायर नहीं होती है तो IPC की धारा 167 (2) के तहत इन्हें प्राकृतिक तौर पर जमानत मिल जाएगी.

    ये भी पढ़ें- मुजफ्फरपुर शेल्टर होम: 'सबने केस के सबूत पकड़े, मैंने केस की फीलिंग पकड़ी'

    आपको बता दें कि सीबीआई ने मधु समेत 8 संदिग्धों को गिरफ्तार तो किया है, लेकिन किसी के खिलाफ अब तक चार्जशीट दायर नहीं किया गया है. हालांकि पुलिस ने इससे पहले 11 लोंगों के खिलाफ चार्जशीट किया था जिसमें ब्रजेश ठाकुर भी शामिल है. हालांकि इसी हफ्ते सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट को यह सूचित किया था कि वह चार्जशीट दायर करने को तैयार है. महज इस बात को लेकर विचार किया जा रहा है कि 21 पीड़िताओं के लिए अलग-अलग चार्जशीट दायर की जाए अथवा सभी के लिए एक चार्जशीट दायर किया जाए.

    ये भी पढ़ें- मुजफ्फरपुर शेल्‍टर होम : मेडिकल बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट को बताया ब्रजेश ठाकुर पूरी तरह से स्‍वस्‍थ

    दरअसल श्मशान घाट से बरामद कंकाल की सीएफएसएल जांच की रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है. दूसरी ओर सीबीआई बालिका गृह में रहने वाली बच्चियों की हत्या को लेकर और सुराग और साक्ष्य जुटा रही है. हालांकि 18 दिसंबर से विशेष पॉक्सो कोर्ट मुजफ्फरपुर में इसकी नियमित सुनवाई है. कहा जा रहा है कि सीबीआई इसमें हत्या की धारा भी जोड़ने की तैयारी कर रही है. बताया जा रहा है कि इसके लिए कभी भी विशेष पॉक्सो कोर्ट में अर्जी भी डाली जा सकती है.

    रिपोर्ट- प्रवीण कुमार ठाकुर

    ये भी पढ़ें- ट्रिपर खरीद घोटाला मामले में 9 पर FIR, जांच के लिए मुजफ्फरपुर पहुंची निगरानी टीम

    Tags: Bihar News, Muzaffarpur news, Muzaffarpur Shelter Home Rape Case

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर