लाइव टीवी

CM नीतीश के करीबी ने ही खोल दी शराबबंदी के दावों की पोल, बताया 75 परसेंट फेल
Muzaffarpur News in Hindi

News18 Bihar
Updated: January 20, 2020, 4:18 PM IST
CM नीतीश के करीबी ने ही खोल दी शराबबंदी के दावों की पोल, बताया 75 परसेंट फेल
विधायक अशोक चौधरी ने शराबबंदी की सफलता के दावे पर सवाल खड़े कर दिए.

मुजफ्फरपुर के कांटी विधानसभा के एमएलए अशोक चौधरी ने 2015 के विधान सभा चुनाव में कांटी के दिग्गज और बिहार सरकार के पूर्व मंत्री रहे तीन बार के विधायक अजीत कुमार को शिकस्त दी थी.

  • Share this:
मुजफ्फरपुर. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सरकार शराबबंदी को लेकर बड़े-बड़े दावे जरूर करती है,  लेकिन दावों की हकीकत उनकी ही पार्टी के विधायक ने शराबबंदी को 25 प्रतिशत सफल बताया तो 75 प्रतिशत फेल करार दे दिया है. दरअसल रविवार को सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के आह्वान पर आयोजित मानव श्रृंखला में शामिल होते हुए अशोक चौधरी (Ashok Chaudhary ) सरदातपुर स्थित आवास के बाहर शराबबंदी के समर्थन में मानव श्रृंखला (Human Chain) बनवा रहे थे. इसी दौरान जब पत्रकारों ने उनसे पूछा तो उन्होंने ये सच्चाई बयां कर दी.


उन्होंने कहा कि यह मानव श्रृंखला जल जीवन हरियाली को बढ़ाने के साथ-साथ दहेज और शराब से मुक्ति दिलाने के लिए है, लेकिन आज भी शराबबंदी मात्र 25 प्रतिशत ही कामयाब है और 75 प्रतिशत नाकामयाब. इसलिए सभी लोगों को जाति धर्म मजहब से ऊपर उठकर इस मानव श्रृंखला में शामिल होना चाहिए.



हालांकि जब सवाल को लेकर वे घिर गए तो उन्होंने 75 प्रतिशत विफलता की जिम्मेवारी लोगों पर थोप दी.  लेकिन जब तक विधायक जी अपनी बात से पीछे हटते सब कुछ खुल कर सामने आ गया था.


बता दें कि मुजफ्फरपुर के कांटी विधानसभा के एमएलए अशोक चौधरी ने 2015 के विधान सभा चुनाव में कांटी के दिग्गज और बिहार सरकार के पूर्व मंत्री रहे तीन बार के विधायक अजीत कुमार को शिकस्त दी थी.

जीत के ठीक बाद अशोक चौधरी नीतीश कुमार के पास पहुंच गए क्योंकि अजीत कुमार ने 2014 में नीतीश कुमार का सिपाही रहते हुए उन्हें कड़ी टक्कर दी थी. इसलिए सीएम नीतीश ने विधायक अशोक चौधरी को अपनी पार्टी में ले आए थे.


ये भी पढ़ें

 


महागठबंधन के विधायकों ने हाथ से जोड़े हाथ तो RJD-CONGRESS बोली- तुम तीन तोड़ोगे तो हम...

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामला: ब्रजेश ठाकुर समेत 19 दोषी करार, देखें लिस्ट




News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मुजफ्फरपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 20, 2020, 4:00 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर