लाइव टीवी

COVID-19: RJD विधायक ने एक महीने का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में देने की घोषणा की
Muzaffarpur News in Hindi

News18 Bihar
Updated: March 25, 2020, 5:41 PM IST
COVID-19: RJD विधायक ने एक महीने का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में देने की घोषणा की
लॉकडाउन के तीसरे दिन मुजफ्फरपुर शहर के प्रमुख सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा. (फाइल फोटो)

देश में लॉकडाउन (Lockdown) होने के बाद मुजफ्फरपुर में आवश्यक सामानों को स्टोर करने की होड़ लोगों के बीच मची हुई है. इसके कारण कई सामानों के दाम में बढ़ोतरी भी देखी जा रही है.

  • Share this:
मुजफ्फरपुर. मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur) जिले के औराई विधानसभा क्षेत्र के विधायक सुरेंद्र कुमार (MLA Surendra Kumar) ने कोरोना वायरस से लड़ने के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष (Chief Minister Relief Fund) में अपने एक माह का वेतन देने की घोषणा की है. राजद विधायक सुरेंद्र कुमार ने इस बात की जानकारी प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव को पत्र लिख कर दी है. राजद विधायक ने कहा है कि आपदा की स्थिति में कोरोना से बचाव के लिए वह तत्काल एक महीने का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में दे रहे हैं. विधायक ने और लोगों से भी कोरोना से बचाव के लिए सहयोग करने की अपील की है.

कोरोना को लेकर जारी है लॉकडाउन
कोरोना से बचने के लिए लोगों को घर में रहने की सलाह दी जा रही है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार में 31 मार्च तक के लिए लॉकडाउन किया था लेकिन मंगलवार की रात प्रधानमंत्री मोदी ने पूरे देश में 21 दिनों के लिए लॉकडाउन की घोषणा कर दी, जिसके बाद लोग घरों में हैं. सरकार, प्रशासन और समाजसेवियों द्वारा लगातार लोगों से घरों में रहने की अपील की जा रही है. विशेषज्ञों का मानना है कि घरों में रहने से ही लोग कोरोना वायरस से बच सकते हैं. नहीं तो एक दूसरे के संपर्क में आने से कोरोना काफी तेजी से फैलता है.

सामानों के दामों पर नियंत्रण आवश्यक



देश में लॉकडाउन होने के बाद मुजफ्फरपुर में आवश्यक सामानों को स्टोर करने की होड़ लोगों के बीच मची हुई है. इसके कारण कई सामानों के दाम में बढ़ोतरी भी देखी जा रही है. प्याज 70 से ₹80 किलो तक बिकने लगा है, जबकि आटा और चीनी जैसे आवश्यक सामान भी मंहगे दामों पर बिकने की सूचना मिल रही है. प्रशासन ने इस मामले में व्यवसायियों की बैठक कर साफ तौर पर आगाह किया है कि यदि किसी भी दुकानदारों के द्वारा कालाबाजारी की सूचना मिलेगी तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. प्रशासन ने प्रमुख बाजारों में सामानों की लिस्ट को प्रकाशित करने का भी फैसला लिया है.

सड़कों पर पसरा रहा सन्नाटा
लॉकडाउन के तीसरे दिन मुजफ्फरपुर शहर के प्रमुख सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा. लोग आवश्यक कामों की वजह से ही सड़कों पर जाते नजर आए. पुलिस ने कड़ी चौकसी के बीच हरेक आने-जाने वाले लोगों को कड़ाई से पूछताछ की गई. जिन लोगों को आवश्यक कामों से घर से निकलना पड़ा था सिर्फ उसे दुकानों तक जाने की अनुमति मिली. डीएम और एसएसपी ने लोगों को घरों में रहने की अपील की है, ताकि महामारी कोरोना से लोगों की जिंदगी बस सके.

(रिपोर्ट- प्रवीण कुमार ठाकुर)

ये भी पढ़े- 

Coronavirus: लॉकडाउन में यह काम कर बुरे फंसे पप्पू यादव, दर्ज हुआ केस

कोरोना के मरीजों के इलाज के लिए रामविलास पासवान ने बिहार को दिए एक करोड़ रुपए

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मुजफ्फरपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 25, 2020, 5:41 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर