लाइव टीवी

कन्हैया बोले- सरकार आपको नागरिक मानने से परहेज करे तो आप भी उसे सरकार मानने से इंकार कर दें
Muzaffarpur News in Hindi

Praveen Thakur | News18 Bihar
Updated: February 2, 2020, 12:05 PM IST
कन्हैया बोले- सरकार आपको नागरिक मानने से परहेज करे तो आप भी उसे सरकार मानने से इंकार कर दें
बिहार के मुजफ्फरपुर में आयोजित सभा में कन्हैया कुमार

कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) ने कहा कि आजाद देश में आजादी बचाने के लिए, संविधान को बचाने के लिए यह लड़ाई है. यह लड़ाई समुदाय के लिए नहीं बल्कि मानव समाज की लड़ाई है.

  • Share this:
मुजफ्फरपुर. सीपीआई नेता कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) ने एनपीआर (NPR) के खिलाफ लोगों से असहयोग करने की अपील की है. मुजफ्फरपुर में आयोजित एक सभा में कन्हैया ने कहा कि यदि कोई सरकार आपको नागरिक मानने से परहेज करती है तो आप भी ऐसी सरकार को मानने से इंकार कर दीजिए. आजादी से पहले गांधी जी द्वारा शुरू किए गए असहयोग आंदोलन का उदाहरण देते हुए कन्हैया ने लोगों से अपील की कि आप अपने घरों के आगे नो एनपीआर का बोर्ड लगाएं और यदि आपके घर कोई एनपीआर के लिए आता है तो आप असहयोग करें.

अपनी यात्रा को बताया नैतिक यात्रा

जन संघर्ष मोर्चा के बैनर तले बेतिया से शुरू किए गए अपनी यात्रा को कन्हैया कुमार ने नैतिक यात्रा बताया है. मारवाड़ी हाई स्कूल में सभा को संबोधित करते हुए कन्हैया कुमार ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून प्रस्तावित एनपीआर और एनआरसी के विरोध में उनकी यात्रा नैतिक यात्रा है. यह लड़ाई झूठ और सच के बीच की है. न्याय और अन्याय के बीच की लड़ाई है. कन्हैया ने कहा कि किसी को नेता बनाने के लिए उनकी यात्रा नहीं निकली है बल्कि देश संविधान और समाज को मजबूत करने के लिए उन्होंने यात्रा की शुरुआत की है.

29 फरवरी को पटना आने की अपील

जनसभा को संबोधित करते हुए कन्हैया कुमार ने लोगों से प्रस्तावित एनपीआर के विरोध में पटना में भारी संख्या में लोगों को आने की अपील की. कन्हैया कुमार ने बार-बार लोगों से हाथ उठाकर यह वादा कराया कि वह घरों से निकलकर पटना जरूर आएंगे. कन्हैया कुमार ने कहा कि आजाद देश में आजादी बचाने के लिए, संविधान को बचाने के लिए यह लड़ाई है. यह लड़ाई समुदाय के लिए नहीं बल्कि मानव समाज की लड़ाई है.

अल्पसंख्यकों के बीच कन्हैया ने छोड़ी छाप

कन्हैया कुमार की सभा में भारी संख्या में अल्पसंख्यक समुदाय की महिलाएं भी पहुंची थी और बार-बार कन्हैया कुमार के नारे सभा के बीच में लगाए जा रहे थे. ऐसे में अब सवाल उठ रहा है कि क्या तेजस्वी से अधिक लोकप्रिय कन्हैया कुमार अल्पसंख्यक समुदाय के बीच हो गए हैं. राजद नेता अब अब तक कन्हैया की लोकप्रियता को वोट बैंक में तब्दील होने से इंकार कर रहे हैं. राजद के वरिष्ठ नेता और प्रदेश प्रवक्ता मोहम्मद इकबाल सामी कहते हैं कि कन्हैया को सुनने लोग आ रहे हैं लेकिन अब भी लोगों का भरोसा राजद पर है. जल्द ही राजद भी अल्पसंख्यक समुदाय के बीच जाएगा. पहले भी हमारे नेता तेजस्वी यादव नागरिकता संशोधन कानून एनपीआर और एनआरसी का मुखर होकर विरोध किया है, यह बात अल्पसंख्यक समुदाय के लोग भली-भांति समझते हैं.ये भी पढ़ें- रिश्वतखोरी से परेशान शिक्षकों ने DEO, मजिस्ट्रेट को 8 घंटे तक बनाया बंधक

ये भी पढ़ें- रघुवंश से बाले लालू- RJD आपकी ही है, आप नाराज होंगे तो पार्टी कैसे चलेगी?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मुजफ्फरपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 2, 2020, 11:58 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर