लाइव टीवी

COVID-19: हेलो सखी... कोरोना से बचाव के लिए फोन से महिलाएं चला रहीं अभियान
Muzaffarpur News in Hindi

News18 Bihar
Updated: April 4, 2020, 3:47 PM IST
COVID-19: हेलो सखी... कोरोना से बचाव के लिए फोन से महिलाएं चला रहीं अभियान
मुजफ्फरपुर में एक एंजीओ से जुड़ी महिलाएं ग्रामीण महिलाओं को फोन से कोरोना वायरस के खतरे को लेकर जागरूकता अभियान चला रही हैं.

ज्योति महिला सामाख्या से जुड़ी 50 महिलाएं मोबाइल के जरिए जागरूकता का काम कर रही हैं. महिलाएं सुबह, दोपहर और शाम में संगठन से जुड़ी सखियों से फोन कर गांव की महिलाओं के फोन नंबर लेती हैं और फिर बारी-बारी से सभी नंबरों पर कोरोना से बचाव की सीख देती हैं.

  • Share this:
मुजफ्फरपुर. महिलाओं के संगठन ज्योति महिला समाख्या से जुड़ी सखियों द्वारा ग्रामीण महिलाओं को फोन कर कोरोना वायरस के संक्रमण (Corona virus infection) से बचाव की सीख दी जा रही है. संगठन से जुड़ी महिलाएं रोजाना 20 महिलाओं को फोन कर कोरोना से बचाव के लिए सुझाव दे रही हैं. साथ ही साथ लॉकडाउन के दौरान घरों में रहने और बच्चे समय परिवार के सभी सदस्यों को बार-बार 20 सेकंड तक हाथ साबुन से धोने की सीख दे रही हैं. पिछले 5 दिनों से महिलाएं हजारों महिलाओं को फोन कर जागरूक कर चुकी हैं.

ग्रामीण महिलाओं में फैला रही हैं जागरूकता
ज्योति महिला सामाख्या से जुड़ी 50 महिलाएं मोबाइल के जरिए जागरूकता का काम कर रही हैं. महिलाएं सुबह, दोपहर और शाम में संगठन से जुड़ी सखियों से फोन कर गांव की महिलाओं के फोन नंबर लेती हैं और फिर बारी-बारी से सभी नंबरों पर कोरोना से बचाव की सीख देती हैं.

कोरोना से बचने के लिए संगठन से जुड़ी महिलाओं ने छोटे-छोटे 10 पॉइंट्स बनाए हैं. जिसमें घरों में रहने, लॉकडाउन का पूरी तरह पालन करने, साबुन से दिन में कम से कम 5 बार हाथ साफ करने, 20 सेकंड तक हाथ धोने और मास्क या रुमाल बांधकर एक दूसरे से बात करने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के साथ ही खांसी, बुखार, बदन में तेज दर्द या सर्दी होने पर शीघ्र अस्पताल आने का सुझाव लोगों को दे रहे हैं. जब घर की महिलाएं फोन नहीं उठाती है तो घर के पुरुष सदस्यों को भी संगठन से जुड़ी महिलाएं और उनसे बचाव के टिप्स देती हैं.



गीत गाकर भी देती हैं सुझाव


संगठन से जुड़ी महिला सखियों के द्वारा भोजपुरी, मगही, वज्जिका और मैथिली भाषा में गीतों के सहारे भी कोरोना से बचने के सुझाव ग्रामीण महिलाओं को दी जा रही है. दरअसल गांव की कम पढ़ी-लिखी महिलाओं को कोरोना से बचाव के लिए छोटे-छोटे गीतों के जरिए जागरूक करने का काम इस महिला संगठन के द्वारा किया जा रहा है. ताकि कम पढ़ी-लिखी महिलाएं आसानी से कोरोना से बचने के टिप्स को आजमा सके.

संगठन से जिले केआठ प्रखंड के 30,000 से अधिक महिलाएं जुड़े हुए हैं जिसे महिला सखी का नाम दिया गया है.  इन महिला सखियों के जरिए ही गांव की दूसरी महिलाओं को भी और उनसे बचाव के लिए टिप्स दिए जा रहे हैं. फिलहाल 50 महिला सखी मोबाइल फोन के जरिए रोजाना 1000 लोगों को फोन कर रही हैं.

20 सालों से सक्रिय है महिलाओं का संगठन
मुजफ्फरपुर में पहले महिला समाख्या के नाम से महिलाओं को सामाजिक, आर्थिक और सांस्कृतिक तौर पर जागरूक करने के लिए संस्था के द्वारा काम किया जा रहा था. हाल के दिनों में इस संस्था का नाम ज्योति महिला समाख्या रखा गया है. पहले से संस्था से जुड़ी हुई महिलाएं अब ज्योति महिला समाख्या के बैनर तले छोटी-छोटी बचत कर आर्थिक स्वावलंबन की गाथा इलाके में रच रही है.

इसी क्रम में जब कोरोना संकट के कारण संस्था की सारी गतिविधि ठप हो गई तो संस्था की सखियों के सहारे महिलाओं को इस कोरोना वायरस संकट से बचाने के लिए या पहल की जा रही है.

संचालिका का यह है कहना
महिला समाख्या की संचालिका पूनम कुमारी ने बताया कि घर में लॉकडाउन का पालन करते हुए उनकी संस्था की सखियां इस काम को कर रही हैं. घर के कामकाज को निपटाने के बाद खाली समय में सखियां मोबाइल फोन के जरिए सहजता से इस काम को कर रही हैं. इस अभियान का ग्रामीण महिलाएं जमकर समर्थन भी कर रही हैं. इतना ही नहीं बाहर से आने वाले मजदूर वर्ग के लोगों को गांव के स्कूल में बने क्वॉरेंटाइन सेंटर में भी जाने के लिए महिलाएं प्रेरित कर रही हैं.

ये भी पढ़ें

Coronavirus: दरभंगा में छिपे हैं 10 विदेशी नागरिक! जमातियों को छिपाने वालों पर FIR के आदेश

Lockdown में बिहार आए अप्रवासियों की स्क्रीनिंग आज से, महाराष्ट्र से लौटे लोगों की पहले होगी जांच

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मुजफ्फरपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 4, 2020, 3:46 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading