मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से 3 और बच्‍चों की मौत, बिहार में अब तक इससे 138 मौतें

पूरे बिहार में चमकी बुखार से मरने वालों की संख्‍या बढ़कर 138 पहुंच गई है. मुजफ्फरपुर के SKMCH में इससे अब तक कुल 93 बच्‍चों की मौत हो चुकी है. वहीं केजरीवाल अस्‍पताल में 19 बच्‍चों की इससे जान चली गई है.

News18Hindi
Updated: June 19, 2019, 10:13 AM IST
मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से 3 और बच्‍चों की मौत, बिहार में अब तक इससे 138 मौतें
मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से तीन और बच्‍चों की मौत.
News18Hindi
Updated: June 19, 2019, 10:13 AM IST
बिहार के मुजफ्फरपुर में एक्यूट एनसेफेलाइटिस (एईएस) यानी चमकी बुखार का प्रकोप बढ़ता जा रहा है. इस जानलेवा बुखार ने 3 और मासूम बच्चों की जान ले ली है. इस तरह इससे यहां मौत का आंकड़ा बढ़कर 112 हो गया है. इस बीच प्रदेश भर में चमकी बुखार से मरने वालों की संख्‍या बढ़कर 138 पहुंच गई है. बताया जा रहा है कि मुजफ्फरपुर के श्री कृष्‍णा मेडीकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (SKMCH) में अभी तक कुल 93 बच्‍चों की मौत हो चुकी है. जबकि केजरीवाल अस्‍पताल में 19 बच्‍चों की इससे जान जा चुकी है.




बच्चों की मौत का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंचा
एक्यूट इन्सेफेलाइटिस सिंड्रोम (AES) यानी चमकी बुखार से बच्चों की लगातार हो रही मौत को लेकर सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दाखिल की गई है. इस याचिका में केंद्र और बिहार राज्य को 500 आईसीयू की व्यवस्था करने के लिए निर्देश देने के साथ-साथ एक्यूट इन्सेफेलाइटिस सिंड्रोम के प्रकोप से निपटने के लिए आवश्यक चिकित्सा पेशेवरों की संख्या की बढ़ाने की मांग की गई है.
Loading...

वकील मनोहर प्रताप और सनप्रीत सिंह अजमानी ने सुप्रीम कोर्ट में यह जनहित याचिका दाखिल की है. सर्वोच्च न्यायालय में दाखिल की गई इस जनहित याचिका में मुजफ्फरपुर में 100 मोबाइल आईसीयू की व्यवस्था करने और वहां मेडिकल बोर्ड स्थापित करने की मांग की गई है.

CM नीतीश कुमार ने किया था मुजफ्फरपुर का दौरा
सूबे के मुखिया नीतीश कुमार मंगलवार को मुजफ्फरपुर का दौरा किया था. नीतीश और उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी मरीजों का हाल जानने के लिए यहां के श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (SKMCH) पहुंचे थे. यह दोनों चमकी बुखार से बच्चों की मौत के 17 दिन बाद स्थिति का जायजा लेने पहुंचे थे. सीएम SKMCH अस्‍पताल पहुंचकर मृत बच्‍चों के माता-पिता से मिल रहे थे और पीड़ित बच्‍चों का भी हालचाल पूछ रहे थे. इस दौरान अस्पताल परिसर के बाहर उन्‍हें काले झंडे दिखाए गए और 'नीतीश वापस जाओ' के नारे लगे थे.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स
First published: June 19, 2019, 9:20 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...