Assembly Banner 2021

मुजफ्फरपुरः कपड़ा कारोबारी की गोली मारकर हत्या, पास में थे ढाई लाख रुपए, लूट का अंदेशा

पटना में इंजीनियर की कार पर ताबड़ेतोड़ फायरिंग (फाइल फोटो)

पटना में इंजीनियर की कार पर ताबड़ेतोड़ फायरिंग (फाइल फोटो)

Murder In Muzaffarpur: बाइक सवार अपराधियों ने रात के अंधेरे में लूट को तब अंजाम दिया, जब कारोबारी राजीव ढाई लाख रुपए लेकर समस्तीपुर शॉपिंग के लिए निकले थे. परिजनों का कहना हत्या लूट के इरादे से की गई, लेकिन पुलिस इस हत्या के पीछे दूसरे एंगल की भी पड़ताल कर रही.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 25, 2021, 9:29 AM IST
  • Share this:
मुजफ्फरपुर. बिहार के मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur) में बेखौफ अपराधियों ने बुधवार रात कपड़ा कारोबारी राजीव शाह की गोली मारकर हत्या (Murder) कर दी. कारोबारी राजीव मार्केटिंग के मकसद से समस्तीपुर जा रहे थे, राजीव के पास ढाई लाख रुपए भी बैग में रखे थे, जो वारदात के बाद नहीं मिला है. परिजनों का कहना है कि रुपए की लूट के लिए राजीव की हत्या की गई है. पुलिस को राजीव का ससुराल की जमीन को लेकर कुछ लोगों से विवाद का भी पता चला है, पुलिस हत्या के पीछे दूसरे एंगल की भी पड़ताल कर रही है.

पुलिस के मुताबिक घटना सकरा थाना क्षेत्र के दुभा गांव की है. इसी थाना क्षेत्र के मुरा गांव निवासी सत्येंद्र शाह के बेटे राजीव ढ़ाई लाख रुपए लेकर अपनी बाइक से समस्ती पुर के लिए बुधवार रात को निकले थे. समस्तीपुर में उनकी ससुराल है, जहां वह रात को रुककर दूसरे दिन शापिंग और मार्केटिंग का काम करने वाले थे.

बेझा गांव में था मृतक का कारोबार


मिली जानकारी के मुताबिक राजीव का लालन-पालन के ननिहाल सकरा के बेझा गांव में हुआ था. बचपन से ही राजीव अपने ननिहाल में ही रहते थे और यहीं उनका कारोबार भी था. गनीपुर बेझा चौक पर राजीव की इलेक्ट्रॉनिक्स की दुकान भी है, जिसे उसका भाई दिलीप संभालता है. बुधवार को दोनों दुकानों से ढाई लाख रुपए लेकर राजीव समस्तीपुर के धोबगमा गांव के लिए निकले, जहां उनका ससुराल है.

घटना स्थल पर नहीं मिला रुपए वाला बैग


बताया जा रहा है कि अपराधियों को राजीव के निकलने की भनक लग गई और बाइक सवार अपराधियों ने रात के अंधेरे में उन्हें अपना निशाना बनाया. घटनास्थल से राजीव के मोबाइल और बाइक बरामद हुई है, लेकिन रुपए वाला बैग नहीं मिला. घटना के बाद आनन-फानन मौके पर पहुंची सकरा थाना पुलिस ने बवाल की आशंका के मद्देनजर सबसे पहले शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच भेज दिया.


ससुराल की जमीन को लेकर विवाद भी चल रहा था


राजीव के मामा श्याम कुमार ने बताया कि उसके परिवार की माली हालत ठीक नहीं थी इस वजह से राजीव ने बीच में अपनी पढ़ाई ड्रॉप करके व्यवसाय शुरू कर लिया और एक दुकान के बाद दूसरी दुकान खोलकर भाई को भी उसमें इंगेज किया हुआ था. एक बात यह भी सामने आ रही है कि ससुराल की जमीन को लेकर राजीव का कुछ लोगों से विवाद भी चल रहा था, क्योंकि राजीव के ससुर की दो-दो शादियां हैं.

हत्या के कई एंगल सामने आ रहेःडीएसपी


राजीव का 4 माह का एक बेटा है. डीएसपी पूर्वी मनोज कुमार पांडे ने बताया है कि इस हत्या के कई एंगल सामने आ रहे हैं. फिलहाल पुलिस हत्या का स्पष्ट मोटिव पता नहीं कर पाई है. मामले में छानबीन की जा रही है. डीएसपी पांडेय ने विश्वास जताया है कि जल्द ही हत्यारों की गिरफ्तारी कर कांड का खुलासा कर दिया जाएगा. इधर राजीव के घर ननिहाल और ससुराल हर जगह मातम पसरा हुआ है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज