लाइव टीवी

रंगदारी न देने पर पुलिसवाले के बेटे की सरेआम हत्या, अपराधियों ने दागी सात गोलियां

News18 Bihar
Updated: October 20, 2019, 9:22 AM IST
रंगदारी न देने पर पुलिसवाले के बेटे की सरेआम हत्या, अपराधियों ने दागी सात गोलियां
मुजफ्फरपुर में हुई हत्या की घटना के बाद सदर अस्पताल में भीड़ लग गई.

वरीय पुलिस अधीक्षक (SSP) मनोज कुमार ने मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur) हत्‍याकांड के पीछे आपसी रंजिश बताया है.

  • Share this:
मुजफ्फरपुर. बिहार के मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur) में बेखौफ अपराधियों ने एक होमगार्ड (Home guard) जवान के बेटे को उसी के थाना इलाके में गोलियों से भून डाला. अस्पताल पहुंचने से पहले ही युवक ने दम तोड़ दिया. होमगार्ड जवान प्रमोद कुमार राय अहियापुर थाने में तैनात हैं. इस वारदात के बाद इलाके में सनसनी फैल गई है.

जानकारी के मुताबिक, होमगार्ड जवान प्रमोद राय का बेटा सुजीत अपने पिता को खाना देने के लिए बीती रात घर से निकला था. खाना देकर वह घर लौट रहा था, उसी वक्‍त अहियापुर के आनंद विहार कॉलोनी में उनके घर से लगभग 400 मीटर पहले ही घात लगाकर बैठे अपराधियों ने उनके सिर में पिस्टल से गोली मार दी. हमलावरों ने ताबड़तोड़ कई फायर किए. सुजीत को 7 गोलियां लगने की बात कही जा रही है. इसकी सूचना गश्ती में तैनात होमगार्ड जवान प्रमोद राय को उनके अधिकारी से मिली.

रंगदारी की हुई थी मांग

गश्ती दल के साथ तैनात अधिकारी को जवान प्रमोद के बेटे को गोली मारने की सूचना मिली थी. सूचना मिलने पर पुलिस टीम घटनास्थल पर पहुंची और सुजीत को KMCH पहुंचाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्‍हें मृत घोषित कर दिया. इस कांड को अंजाम देकर अपराधी फरार हो गए. हत्या के बाद होमगार्ड जवान प्रमोद कुमार राय ने बताया कि गायघाट के एक व्यक्ति से पूर्व में सुजीत का विवाद हुआ था. उन्‍होंने बताया कि उनके बेटे से रंगदारी मांगी गई थी और न देने पर हत्या की धमकी दी गई थी.

इंस्पेक्टर से शिकायत के बाद भी नहीं हुई कार्रवाई

जानकारी के मुताबिक, रंगदारी मांगने की सूचना होमगार्ड जवान ने अहियापुर थाना में तैनात तत्कालीन इंस्पेक्टर सोना प्रसाद को दी थी, लेकिन प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई थी. अधिवक्ताओं की सलाह पर प्रमोद राय ने मामले का कोर्ट परिवाद किया था. इसके बाद भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की जबकि परिवाद में आरोपियों को नामजद किया गया था. मृतक के पिता प्रमोद राय में अहियापुर थाना के तत्कालीन अध्यक्ष सोना प्रसाद पर बड़े आरोप लगाए हैं.

रंजिश को बताया जा रहा हत्‍या की वजह
Loading...

घटना की सूचना मिलने पर टाउन डीएसपी राम नरेश पासवान और सिटी एसपी नीरज कुमार सिंह तत्काल एसकेएमसीएच पहुंचे और मामले में छानबीन शुरू कर दी है. वरीय पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार ने बताया है कि सुजीत का चरित्र भी संदिग्ध था गायघाट के एक व्यक्ति से उसकी पूर्व से व्यक्तिगत कारणों से अदावत चल रही थी, उसी को लेकर उसकी हत्या हुई है. मामले में नामजद प्राथमिकी थाने में दर्ज की गई है. एसएसपी मनोज कुमार ने दावा किया है कि जल्द ही अपराधियों को पकड़ लिया जाएगा.

रिपोर्ट- सुधीर कुमार

ये भी पढ़ें- बिहार उपचुनाव: थमा चुनाव प्रचार, 21 अक्टूबर को होगी वोटिंंग

ये भी पढ़ें- समस्तीपुर में डबल मर्डर से सनसनी, पिता-पुत्र की गोली मारकर हत्या

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मुजफ्फरपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 20, 2019, 8:52 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...