Coronavirus का खौफ! 'जो जिंदा रहेंगे, वही तो परीक्षा देंगे'
Muzaffarpur News in Hindi

Coronavirus का खौफ! 'जो जिंदा रहेंगे, वही तो परीक्षा देंगे'
सुनसान पड़ा मुजफ्फरपुर स्थित बिहार विश्वविद्यालय परिसर

लेट सेशन के सवाल पर विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक डॉ मनोज कुमार ने कहा कि जीवन ज्यादा महत्वपूर्ण है. जो जीवित रहेंगे, वही तो परीक्षा देंगे.

  • Share this:
मुजफ्फरपुर. कोरोना वायरस (Corona virus) के खतरे ने सबकुछ बेपटरी कर दिया है. इसके प्रकोप से उत्तर बिहार का सबसे बड़ा शैक्षणिक संस्थान बिहार विश्वविद्यालय (Bihar University) के काम काज पर भी गहरा असर पड़ रहा है. दशकों से लेट सेशन के लिए जाना जाने वाले बिहार विश्वविद्यालय की सभी परिक्षाएं स्थगित कर दी गयी हैं जिससे हजारों छात्रों को अपने भविष्य की चिंता सता रही है.

31 मार्च तक सभी परीक्षाओं पर रोक
दरअसल बिहार विश्वविद्यालय की सभी परीक्षाएं अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दी गयी हैं. बता दें कि यहां स्नातक के तीन पार्ट और पीजी के कई सेमेस्टर की परीक्षाओं की तैयारी हो गयी थी. उन सभी परीक्षाओं पर 31 मार्च तक रोक लगा दी गई हैं. हालांकि उसके बाद भी परीक्षा हो पाएगी, इस पर संशय बरकरार है.

विवि परिसर में पसरा सन्नाटा



विश्वविद्यालय के करीब एक सौ कॉलेज और 22 पीजी विभाग छात्र छात्राओं से गुलजार रहते थे, लेकिन आज हर जगह सन्नाटा पसरा है. छात्र अपने भविष्य को लेकर काफी चिंतित हैं. विश्वविद्यालय में अपने काम से पहुंचे मोतिहारी के छात्र मनीष ने बताया कि प्रैक्टिकल की परीक्षाएं शुरू हो गई थी, लेकिन कोरोना की वजह से एक बार फिर परीक्षाएं रुक गई हैं.



जान है तो जहान है
विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक डॉ मनोज कुमार ने बताया कि फिलहाल 31 मार्च तक परीक्षा पर रोक का निर्णय लिया गया है, लेकिन उसके बाद भी जब तक स्वास्थ्य मंत्रालय और सरकार से सामान्य हालात की जानकारी नहीं मिलेगी तब तक परीक्षाएं नहीं कराई जाएंगी.

बिहार विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक डॉ मनोज कुमार


छात्रों की बढ़ गई परेशानी
लेट सेशन के सवाल पर विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक ने कहा कि जीवन ज्यादा महत्वपूर्ण है. जो जीवित रहेंगे, वही तो परीक्षा देंगे. हालांकि उन्होंने इस बात के लिए अफसोस जताया कि बड़ी मुश्किल से सत्र को पटरी पर लाया गया था, लेकिन कोरोना की वजह से एक बार फिर परेशानी बढ़ गई है.

गौरतलब है कि बिहार विश्वविद्यालय में स्नातक, पीजी, मेडिकल, मैनेजमेंट, कम्प्यूटर, टीचर ट्रेनिंग, वोकेशनल कोर्स, पत्रकारिता, डिस्टेंस एजुकेशन जैसे कोर्स की सैंकड़ों परिक्षाएं ली जाती हैं. एक दशक से ज्यादा समय से ये सभी परीक्षाएं काफी लेट चल रही हैं. अब कोरोना के खौफ ने सब गुड़-गोबर कर दिया है.

ये भी पढ़ें

Coronavirus: गोपालगंज में मिले दो संदिगध, नाइजिरिया और सउदी से आये थे भारत

CAA के खिलाफ चल रहा था धरना, ऑटो से आए आरोपियों ने बरसाईं गोलियां
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading