लाइव टीवी

COVID-19: कोरोना जांच के नाम बिहार के इस सरकारी अस्पताल में हो रही नाजायज वसूली
Muzaffarpur News in Hindi

Praveen Thakur | News18 Bihar
Updated: May 21, 2020, 6:29 PM IST
COVID-19: कोरोना जांच के नाम बिहार के इस सरकारी अस्पताल में हो रही नाजायज वसूली
मुजफ्फरपुर के सदर अस्पताल में प्रवासी मजदूरों से अवैध वसूली.

वसूली जा रही रकम की कोई रसीद भी मजदूरों को नहीं मिल रही है. जांच कराने आये मजदूरों ने जांच के बदले पैसे दिए जाने का विरोध किया है और इस मामले में सदर अस्पताल के उपाधीक्षक को शिकायत भी की है.

  • Share this:
मुजफ्फरपुर. कोरोना की स्क्रीनिंग के लिए पहुंच रहे प्रवासी मजदूरों (migrant workers) से मुजफ्फरपुर सदर अस्पताल (Muzaffarpur Sadar Hospital) में नाजायज वसूली की जा रही है. हर एक प्रवासी मजदूर को निबंधन के लिए 6 रुपये और स्क्रीनिंग के लिए ₹10 भुगतान करना पड़ रहा है जबकि सदर अस्पताल में ओपीडी (OPD) जांच के लिए सरकार ने 2 रुपया निबंधन शुल्क तय कर रखा  है.  इन प्रवासी मजदूरों को सदर अस्पताल में पहले ₹16 भुगतान करना पड़ रहा है. इसके बाद घंटों कतार में खड़े रहने के बाद इनकी स्क्रीनिंग हो पा रही है.

मजदूरों को स्क्रीनिंग के बाद उनके प्रखंड और पंचायत में कारंटीन के लिए जाने का प्रावधान किया गया है. नाजायज तौर पर ली जा रही इसका कोई रसीद भी मजदूरों को नहीं मिल रही है. जांच कराने आये मजदूरों ने जांच के बदले पैसे दिए जाने का विरोध किया है और इस मामले में सदर अस्पताल के उपाधीक्षक को शिकायत भी की है.

पीड़ित मजदूरों ने उपाधीक्षक से की शिकायत
दरअसल जांच करवाने आ रहे सभी प्रवासी मजदूर मुजफ्फरपुर के ही अलग-अलग प्रखण्ड के रहने वाले है. दिल्ली, गुजरात, अहमदाबाद और बंगलौर से अपने जिले आये मजदूरों ने नाजायज पैसे की वसूली पर सदर अस्पताल के उपाधीक्षक से शिकायत की है. औराई के शिवचंद्र कुमार ने न्यूज 18 से बातचीत में कहा कि 11 साथियों के साथ साइकिल चलाकर दिल्ली से वापस आये हैं, लेकिन जांच की व्यवस्था सदर अस्पताल में इस तरह होने, पैसे लेने,सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने से निराशा हैं.



5 घंटे में भी नहीं हो रही स्क्रीनिंग


प्रवासी मजदूरों ने बताया 5 घंटे बाद भी सदर अस्पताल में स्क्रीनिंग नहीं हो पा रही है. घंटों कतार में खड़े होने के बाद भी शीघ्र जांच नहीं होने से परेशानी है. पहले ही सभी मजदूर काफी थककर अपने जिले पहुंचे हैं. बता दें कि मुजफ्फरपुर में अबतक 1430 लोगों का सैम्पल लिया गया है जिनमें 1238 लोगों की सैम्पल जांच रिपोर्ट आ चुकी है और इनमें 31 लोग पॉजिटिव मिले है. हालांकि इनमे 9 लोग ठीक भी हुए हैं.

उपाधीक्षक ने कारवाई की बात की
प्रवासी मजदूरों की शिकायत पर सदर अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ नरेश चौधरी ने इस मामले में तत्काल पूछताछ शुरू की है. पूछताछ के क्रम में पाया गया कि सुबह की शिफ्ट में रहने वाले कर्मियों ने नाजायज वसूली की है. उपाधीक्षक के समक्ष आधे दर्जन मजदूरों ने शिकायत की है. उपाधीक्षक डॉ नरेश चौधरी ने इस मामले में कार्रवाई की बात कही है.

ये भी पढ़ें
First published: May 21, 2020, 6:24 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading