चरस कारोबार के इंटरनेशनल रैकेट का खुलासा, बिहार के रास्ते नेपाल से होती थी डिलिवरी

चरस तस्करों के बारे में जानकारी देते अधिकारी
चरस तस्करों के बारे में जानकारी देते अधिकारी

मुख्यालय डीएसपी बैजनाथ सिंह ने बताया कि इस रैकेट के तार नेपाल से लेकर देश के कई अन्य राज्यों से जुड़े हैं. पुलिस फिलहाल तस्करों की कुंडली खंगालने में जुटी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 21, 2020, 9:47 AM IST
  • Share this:
मुजफ्फरपुर. मुजफ्फरपुर एसआईटी (SIT) की टीम ने चरस कारोबार के एक इंटरनेशनल रैकेट का खुलासा किया है. इस रैकेट के जाल नेपाल से मुजफ्फरपुर के रास्ते दिल्ली और अन्य बड़े शहरों में फैले हैं.  एसआईटी ने मोतिहारी पुलिस की मदद से 6 तस्करों को 25 किलो चरस (Hashish) के साथ गिरफ्तार किया है.  इनके पास से 14 लाख 19 हजार कैश भी बरामद किया गया है. इस कारोबार का एक बड़ा केंद्र मुजफ्फरपुर के नगर थाना इलाके का गोला रोड है जहां सुरेंद्र प्रसाद नामक एक व्यक्ति के घर से यह कारोबार चल रहा था.

SIT ने बिछाया जाल

मुजफ्फरपुर एसआईटी को गुप्त सूचना मिली कि एक नेपाली चरस तस्कर पवस शर्मा चरस सैंपल लेकर मुजफ्फरपुर में एक दूसरे तस्कर को दिखाने पहुंचा है. एसआईटी ने जाल बिछाकर पावस को दबोच लिया. पूछताछ में उसने बताया के नगर थाना के गोला रोड में सुरेंद्र प्रसाद के मकान में उसके अन्य साथी मौजूद हैं और वहां भारी मात्रा में चरस भी उपलब्ध है. एसआईटी ने सुरेंद्र प्रसाद के घर पर छापामारी की तो पता चला कि 25 किलो का कंसाइनमेंट लेकर तस्कर का एक गिरोह कार से दिल्ली के लिए रवाना हो गया है. एसआईटी ने उसका पीछा किया और मोतिहारी पुलिस को सूचना दी.



14 लाख रुपए कैश बरामद
मोतिहारी पुलिस ने चकिया टोल प्लाजा के पास उस कार को पकड़ लिया जिसमें दो तस्करों के साथ 25 किलो चरस मौजूद था. आगे की पूछताछ पर छानबीन में इस गिरोह के पास से 14 लाख 19 हजार नगद, 2 सोने के चेन और नेपाली रुपये बरामद किए गए. मुख्यालय डीएसपी बैजनाथ सिंह ने बताया कि जिस मकान से यह तस्कर पकड़े गए हैं उसकी भी छानबीन की जा रही है.

नेपाल से जुड़े हैं तार

गिरफ्तार लोगों में कई तस्कर नेपाल के हैं जो सीतामढ़ी के रास्ते मुजफ्फरपुर कंसाइनमेंट लाते हैं और यहां से अन्य शहरों और बड़े महानगरों में भेजा जाता है. पुलिस इस पूरे रैकेट के खुलासे के लिए कार्रवाई कर रही है. पूछताछ में पुलिस को पता चला है कि मुजफ्फरपुर से कई लोग हैं, जो इस कारोबार में लिप्त हैं उन्हें भी पकड़ा जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज