• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • मटन पार्टी के दौरान बना था मुजफ्फरपुर बैंक लूट का प्लान, महिला समेत तीन गिरफ्तार

मटन पार्टी के दौरान बना था मुजफ्फरपुर बैंक लूट का प्लान, महिला समेत तीन गिरफ्तार

मुजफ्फरपुर में हुई बैंक लूट की घटना में शामिल अपराधियों को ले जाती पुलिस

मुजफ्फरपुर में हुई बैंक लूट की घटना में शामिल अपराधियों को ले जाती पुलिस

मुजफ्फरपुर पुलिस (Muzaffarpur Police) ने लूटकांड (Loot Case) के खुलासे के साथ ही लूटी गई 6 लाख 36 हजार की राशि, दो पिस्टल (Pistol) और कारतूस भी बरामद किए हैं.

  • Share this:
मुजफ्फरपुर. मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur) पुलिस ने बीते 22 अप्रैल को बैंक ऑफ इंडिया (Bank of India) के भगवानपुर शाखा से 13 लाख 61 हजार रुपए की हुई लूट के मामले का खुलासा कर लिया है. इस मामले में पुलिस ने एक महिला समेत दो अपराधियों को गिरफ्तार किया है जिनके पास से पुलिस को हथियार (Arms) और लूट की रकम भी मिली है. पुलिस ने इस केस में एक महिला को भी गिरफ्तार किया है जो लूटकांड में शामिल अपराधी की पत्नी बताई जाती है. पुलिस को उसी के पास से लूट के रुपए मिले थे.

बेगूसराय का कुख्यात गिरोह शामिल

पुलिस के मुताबिक बैंक लूट की साजिश बैंक से करीब 3 किलोमीटर दूर स्थित पताही रूप गांव में रची गई थी. सिटी एसपी नीरज कुमार ने बताया कि इस कैश लूट कांड को बेगूसराय के कुख्यात रोहित उर्फ लुल्हवा के गिरोह ने अंजाम दिया है. इस कांड में एक मर्चेंट नेवी में कार्यरत शख्स सुभाष उर्फ मुन्ना ठाकुर भी शामिल था जिसने बाइक ड्राइवर की भूमिका निभाई थी. पुलिस के मुताबिक इसी गिरोह ने पूर्व में मुजफ्फरपुर के मोतीपुर में बैंक ऑफ इंडिया और पारू में स्टेट बैंक से लूट कांड को अंजाम दिया था. इस लूट कांड को अंजाम देने के लिए सभी अपराधियों ने शराब और मटन की पार्टी भी की थी. पार्टी करने के बाद अपराधियों ने लॉकडाउन की तमाम तैयारियों को धत्ता बताते हुए सदर थाना के पास से ही गार्ड की बंदूक छीनकर बैंक से 13 लाख 61 हजार रुपए लूट लिए थे.

लूट से पहले की थी बैंक की रेकी

पुलिस के मुताबिक रोहित उर्फ लुल्हवा इस कांड के सबसे शातिर लुटेरे रजनीश उर्फ पप्पू ठाकुर का संबंधी है. अप्पू सदर थाना क्षेत्र के पताही रूप का निवासी है. मार्च की 18 तारीख को रोहित बेगूसराय से मुजफ्फरपुर आया था और अप्पू के घर पर ठहरा था. लॉकडाउन शुरू हो जाने की वजह से वो फंस गया था तब से वो अप्पू के पताही स्थित आवास पर ही रह रहा था. अप्पू ठाकुर का भाई सुभाष ठाकुर उर्फ मुन्ना ठाकुर छुट्टी में घर आया था जो मर्चेंट नेवी में कार्यरत है. पप्पू के घर पर ही बैंक लूट की योजना बनी. उसके लिए गिरोह के अन्य सदस्य ऋषिकेश और अर्जुन पासवान को बुलाया गया. सब ने मिलकर कई दिनों तक बैंक आफ इंडिया के भगवानपुर शाखा की रेकी की और 22 अप्रैल को लूट की तारीख तय की गई.

मुजफ्फरपुर बैंक लूटकांड
मुजफ्फरपुर से बरामद हथियार और कैश


पहले की मटन-दारू की पार्टी फिर लूटने पहुंचे बैंक

बैंक लूट की इस घटना से पहले सभी अपराधियों ने पहले शराब पी और मटन की पार्टी की उसके बाद दो बाइक पर सवार होकर इस घटना को अंजाम दिया. लॉकडाउन के बीच हुई इस बड़ी वारदात ने पुलिस के नींद उड़ा दी थी. आनन-फानन में एसपी जयंत कांत के निर्देश पर सिटी एसपी नीरज कुमार से छापामार दल का गठन किया जिसके बाद पुलिस ने अपने सूत्रों से मिली जानकारी के आधार पर पप्पू ठाकुर के घर को निशाना बनाया और छापामारी की.

हथियार समेत लूट की राशि बरामद

छापामारी के दौरान रोहित और अर्जुन पासवान फरार हो गए जबकि अप्पू , मुन्ना और ऋषिकेश पकड़े गये. उसी के घर से लूटी गई 6 लाख 36 हजार की राशि भी बरामद की गई जिसे अप्पू की पत्नी सोनम ने संभाल कर रखा था. पुलिस ने सोनम को भी गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस की इस कार्रवाई में दो पिस्टल कई गोलियां बाइक और मोबाइल भी जब्त किए गए हैं. सिटी एसपी नीरज कुमार सिंह ने बताया कि रोहित के गिरोह ने ही पारु के स्टेट बैंक और मोतीपुर में बैंक ऑफ इंडिया में लूटपाट की थी इस कार्रवाई में भी शातिर रोहित लुल्हवा फरार होने में कामयाब रहा. पुलिस अब रोहित और अर्जुन पासवान को दबोचने में लगी हुई है. इस मिशन में जिला पुलिस के अलावे एसटीएफ और डीआईयू को भी लगाया गया है.

ये भी पढ़ें- रोहतास में हथियारबंद अपराधियों ने मुखिया पति को सरेआम मारी गोली

ये भी पढ़ें- बिहार: नेशनल हाईवे के निर्माण में लगी कंपनी के सुपरवाइजर का अपहरण, महज 2 घंटे में पुलिस ने किया बरामद

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज