Home /News /bihar /

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम रेप केस: रामानुज ठाकुर की तिहाड़ जेल में मौत, बच्चियों से दुष्कर्म का था दोषी

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम रेप केस: रामानुज ठाकुर की तिहाड़ जेल में मौत, बच्चियों से दुष्कर्म का था दोषी

मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड में सजा काट रहे आरोपी की तिहाड़ जेल में मौत

मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड में सजा काट रहे आरोपी की तिहाड़ जेल में मौत

मुजफ्फरपुर शेल्‍टर होम केस: रामानुज ठाकुर को 23 फरवरी 2019 को तिहाड़ लाया गया था. 11 फरवरी 2020 को साकेत कोर्ट ने रामानुज ठाकुर को उम्रकैद की सजा दी थी.

    मुजफ्फरपुर. बिहार के मुजफ्फरपुर शेल्टर होम रेप कांड (Muzaffarpur Shelter Home Rape Case) में आजीवन कारावास की सजा काट रहे एक दोषी की दिल्ली स्थित तिहाड़ जेल में मौत हो गई. मृतक आरोपी का नाम रामानुज ठाकुर (Ramanuj Thakur) था. वह रिश्ते में इस कांड के मास्‍टरमाइंड ब्रजेश ठाकुर (Brajesh Thakur) का मामा लगता था. तिहाड़ जेल प्रशासन के सूत्रों के मुताबिक रामानुज की मौत की वजह सामान्य यानी नेचुरल बताया जा रहा है. मृतक की उम्र करीब 70 साल की थी और लंबे वक्त से बीमार चल रहे थे. रामानुज ठाकुर तिहाड़ जेल के अंदर जेल नम्बर तीन में कैद था.

    मिली जानकारी के अनुसार, रामानुज की मौत बीते 3 दिसंबर को ही हो गई थी. दिल्ली के तिहाड़ जेल के महानिदेशक संजय गोयल ने इसकी पुष्टि की है. रामानुज ठाकुर पर शेल्टर होम की बच्चियों के साथ दुष्कर्म करने समेत कई गंभीर आरोप लगे थे. इस मामले की जांच कर रही सीबीआई ने रामानुज को गिरफ्तार किया था.

    गौरतलब है कि 23 फरवरी 2019 को रामानुज ठाकुर को तिहाड़ लाया गया था. 11 फरवरी 2020 को साकेत कोर्ट ने रामानुज ठाकुर को आजीवन कारावास की सजा और 60 हजार रुपये का जुर्माना लगाया था. पोस्टमार्टम के बाद जेल प्रशासन ने उसका शव परिजनों के हवाले कर दिया है. जेल प्रशासन ने कोराना या उससे संबंधित किसी लक्षण से मौत होने से इनकार किया है.

    बता दें कि मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस तब प्रकाश में आया था, जब 26 मई 2018 में टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंस (टीआईएसएस) ने बिहार सरकार को एक रिपोर्ट सौंपी थी. इसमें मुजफ्फरपुर शेल्टर होम में नाबालिग लड़कियों का यौन शोषण किए जाने का जिक्र किया गया था.

    यौन शोषण के मामले में कोर्ट ने 20 आरोपियों में से 19 को दोषी पाया था. ब्रजेश ठाकुर पर नाबालिग बच्चियों और युवतियों के यौन शोषण के आरोप थे. दिल्ली की साकेत कोर्ट ने इसे सही पाया. सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर इस पूरे मामले की सुनवाई दिल्ली की साकेत जिला अदालत में की गई थी.

    Tags: Bihar News, Muzaffarnagar news, Muzaffarpur Shelter Home Rape Case

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर