मुजफ्फरपुर पीड़‍ित बोले, बीमारों को नहीं किया जा रहा अस्‍पताल में भर्ती

मुजफ्फरपुर के श्री कृष्‍णा मेडीकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल पहुंचे कुछ अभिभावकों ने बताया कि वे अपने बच्‍चों को लेकर अस्‍पताल में आए हैं. उनके बच्‍चों को तेज बुखार है लेकिन अस्‍पताल में भर्ती नहीं किया गया है.

News18Hindi
Updated: June 19, 2019, 2:38 PM IST
News18Hindi
Updated: June 19, 2019, 2:38 PM IST
बिहार में एक्यूट इन्सेफेलाइटिस सिंड्रोम (AES) यानी चमकी बुखार से पीड़‍ित बच्‍चों को अस्‍पतालों में सुविधाएं तो दूर ओआरएस का घोल भी नहीं मिल रहा है. वहीं बुखार में तपते अपने बच्‍चों को माता-पिता बिना इलाज के वापस ले जाने को मजबूर हैं. मुजफ्फरपुर के एसकेएमसीएच अस्‍पताल पहुंचे माता-पिताओं ने अपना दर्द सुनाया.

उन्‍होंने बताया कि किसी ने भी उन्‍हें ओआरएस के बारे में नहीं बताया है. इसके अलावा उन्‍हें इंसेफेलाइटिस के लक्षणों की भी जानकारी नहीं है. उनके बच्‍चे चार पांच दिनों से बुखार से तप रहे हैं. डॉक्‍टर ने उन्‍हें दवाइयां दे दी हैं और कहा है कि अगर बुखार नहीं उतरा तो उन्‍हें अस्‍पताल में भर्ती किया जाएगा. लोगों ने कहा कि उनके पास पैसा नहीं है.

मुजफ्फरपुर के श्री कृष्‍णा मेडीकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल पहुंचे कुछ अभिभावकों ने बताया कि वे अपने बच्‍चों को लेकर अस्‍पताल में आए हैं. उनके बच्‍चों को तेज बुखार है लेकिन अस्‍पताल में भर्ती नहीं किया गया है. उन्‍होंने आरोप लगाया कि उनके बच्‍चों के लिए ओआरएस का घोल भी नहीं दिया गया है.

बच्चों की मौत का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंचा
एक्यूट इन्सेफेलाइटिस सिंड्रोम (AES) यानी चमकी बुखार से बच्चों की लगातार हो रही मौत को लेकर सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दाखिल की गई है. इस याचिका में केंद्र और बिहार राज्य को 500 आईसीयू की व्यवस्था करने के लिए निर्देश देने के साथ-साथ एक्यूट इन्सेफेलाइटिस सिंड्रोम के प्रकोप से निपटने के लिए आवश्यक चिकित्सा पेशेवरों की संख्या की बढ़ाने की मांग की गई है.

वकील मनोहर प्रताप और सनप्रीत सिंह अजमानी ने सुप्रीम कोर्ट में यह जनहित याचिका दाखिल की है. सर्वोच्च न्यायालय में दाखिल की गई इस जनहित याचिका में मुजफ्फरपुर में 100 मोबाइल आईसीयू की व्यवस्था करने और वहां मेडिकल बोर्ड स्थापित करने की मांग की गई है.

किस जिलें में कितनी मौत
मुजफ्फरपुर में 113 बच्चों की मौत, हाजीपुर में अबतक 11 बच्चों की मौत, समस्तीपुर में अबतक 5 बच्चों की मौत, मोतिहारी में अबतक 5 बच्चों की हुई मौत, पटना के PMCH में 1 बच्चे की हुई मौत, शिवहर में AES से 2 बच्चों की हुई मौत, बेगूसराय में AES से एक बच्चे की मौत, भोजपुर में AES से एक मासूम की मौत, सीवान में AES से एक बच्चे की मौत, बेतिया में AES से एक बच्चे की हुई मौत.

ये भी पढ़ें- 

चमकी का कहर: शासन-सत्ता नाकाम रही, खामखां लीची बदनाम हुई!

गर्मी से 100 से अधिक लोगों की मौत के बाद बिहार के इन 6 जिलों में धारा 144 लागू

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मुजफ्फरपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 19, 2019, 10:54 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...