पटना से NEET की परीक्षा देकर घर लौटी छात्रा की कोरोना से मौत, भाई-बहन भी पॉजिटिव

बिहार में नीट की परीक्षा देकर लौटी छात्रा की कोरोना से मौत (सांकेतिक चित्र)
बिहार में नीट की परीक्षा देकर लौटी छात्रा की कोरोना से मौत (सांकेतिक चित्र)

NEEET Exam 2020: बिहार के मुजफ्फरपुर में हुई इस छात्रा की मौत के बाद उसके भाई-बहन को भी इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. छात्रा की मौत को देखते हुए उसके गांव में सकरा स्वास्थ्य विभाग के द्वारा जांच शिविर लगाया गया है

  • News18 Bihar
  • Last Updated: September 23, 2020, 1:58 PM IST
  • Share this:
मुजफ्फरपुर. बिहार में कोरोना वायरस का कहर लगातार जारी है. कोरोना के संक्रमण (Covid-19) से मेडिकल की प्रवेश परीक्षा (NEET) देने वाली एक छात्रा की मौत हो गई है. छात्रा जिले के सकरा थाना इलाके के एक गांव की रहने वाली थी. रविवार को छात्रा की नीट (NEET) की परीक्षा पटना में थी. शाम को जब वह परीक्षा देकर लौटी तो उसे बुखार और पेट में तेज दर्द की शिकायत हुई. डॉक्टर के पास जब ले जाया गया तो डॉक्टर ने  करोना जांच की सलाह दी. जांच में पॉजिटिव (Corona Positive) आने के बाद परिजनों ने छात्रा को पताही हवाई अड्डा पर बनाए गए पीएम कोविड केयर सेंटर में भर्ती करा दिया लेकिन छात्रा की हालत लगातार बिगड़ती गई.

इसकी वजह से डीआरडीओ हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने एसकेएमसीएच रेफर कर दिया. एसकेएमसीएच में भर्ती कर इलाज किया गया, लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका और उसकी मौत हो गई. छात्रा की मौत के बाद पूरे परिवार का जिला प्रशासन की ओर से कोरोना जांच कराया गया. रिपोर्ट के मुताबिक छात्रा की छोटी बहन और एक बहन की बेटी भी कोरोना पॉजिटिव हैं. उन दोनों को पीएम कॉविड केयर हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है जहां उनकी हालत में सुधार की जानकारी दी जा रही है.

छात्रा की मौत के बाद एसकेएमसीएच प्रबंधन ने परिजनों को उसका शव सौंप दिया और स्वास्थ्य विभाग की ओर से कोविड प्रोटोकॉल के तहत सिकंदरपुर घाट पर उसका अंतिम संस्कार करा दिया गया. इधर राज्य स्वास्थ्य समिति ने छात्रा की मौत की जांच के आदेश दिए हैं. आदेश के आलोक में जिला स्वास्थ्य समिति द्वारा पूरे प्रकरण की जांच की जा रही है. सदर अस्पताल के सीएमओ डॉ विनय कुमार ने कहा है कि एसकेएमसीएच छात्रा के इलाज और अन्य सभी कागजात मांगे गए हैं. इसके अलावा उसकी ट्रेवल हिस्ट्री की भी जानकारी ली जा रही है ताकि उसके संपर्क में आने वाले ज्यादा से ज्यादा लोगों को चिन्हित कर ट्रीटमेंट किया जा सके.



छात्रा की मौत को देखते हुए उसके गांव में सकरा स्वास्थ्य विभाग के द्वारा जांच शिविर लगाया गया है जहां गांव के लोगों की कोरोना जांच की जा रही है. प्रशासन ने उस गांव के अधिक से अधिक लोगों का कोरोना टेस्ट करने का आदेश दिया है. इस बीच जिले में कोरोना संक्रमण से दो और लोगों की मौत हो जाने से मौत का आंकड़ा अबतक 44 हो गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज