मुजफ्फरपुर में एक और ऑक्सीजन प्लांट शुरू, छपरा-सीवान समेत इन जिलों को भी मिली राहत

बिहार के मुजफ्फरपुर स्थित प्लांट से ऑक्सीजन का उत्पादन शुरू

बिहार के मुजफ्फरपुर स्थित प्लांट से ऑक्सीजन का उत्पादन शुरू

Muzaffarpur News: बिहार में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ने के साथ ही ऑक्सीजन की किल्लत भी हो रही है, ऐसे में मुजफ्फरपुर प्लांट से ऑक्सीजन के उत्पादन का फायदा अन्य जिलों को भी मिलेगा.

  • Share this:
मुजफ्फरपुर. मुजफ्फरपुर और आसपास के जिलों में प्राणवायु ऑक्सीजन की किल्लत (Bihar Oxygen Crisis) के बीच एक अच्छी खबर है. जिले के दामोदरपुर में स्थित दूसरे ऑक्सीजन प्लांट (Muzaffarpur Oxygen Plant) से फिलिंग शुरु हो गया है. जिले के बेला इन्डस्ट्रीयल एरिया में उत्तर बिहार का एक मात्र एयर सेपरेटर ऑक्सीजन प्लांट था. वहां लिक्विड टैंक भी लगाया गया था. इन दोनो टैंकों से चौबीसो घंटे काम करने के बाद भी एक हजार सिलेन्डर भरे जा रहे थे.

ड्रग इन्स्पेक्टर उदय बल्लभ ने बताया कि मु्जफ्फरपुर के आलावा छपरा, सीवान, समस्तीपुर, दरभंगा मधेपुरा आदि जिलों से ऑक्सीजन की डिमांड आने पर करीब तीन हजार सिलेन्डर की जरुरत होती थी. बाहरी आपूर्ति करने पर जिले में ऑक्सीजन की कमी पड़ जाती थी लेकिन दूसरा प्लांट शुरु हो जाने से घरेलू खपत को पूरा करने के साथ-साथ दूसरे जिलों को भी पर्याप्त ऑक्सीजन दिया जा सकेगा.

इस प्लांट में जिला प्रशासन की ओर से मजिस्ट्रेट की तैनाती कर दी गयी है. प्लांट में तैनात मजिस्ट्रेट परिमल कुमार सिन्हा ने बताया कि ऑक्सीजन के उत्पादन और वितरण पर पूरी निगरानी रखी जा रही है ताकि ऑक्सीजन सिलेन्डर सिर्फ जरुरतमंदों को ही दिया जा सके. इस बीच कालाबाजारी करने वाल ऑक्सीजन डीलरों पर नजर रखी जा रही है.

जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी कमल सिंह ने कहा कि डीएम के आदेश पर धावा दल गठन कर दिया गया है. धावादल को निर्देश दिया है कि कालाबाजारी में पकड़े जाने पर कड़ी कार्रवाई की जाए. इस बीच जिले में पांच हजार के ऑक्सीजन सिलेन्डर को दस हजार से ज्यादा रुपये लेकर बेचा जा रहा है. घरों में आइसोलेट रहकर इलाज कराने वाले महंगे सिलेन्डर खरीदने पर मजबूर हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज