दवा के साथ अब दुआ की दरकार: चमकी के कहर से बचने के लिए अस्पताल में शुरु हुआ यज्ञ

लोगों का मानना है कि बच्चों को बीमारी से बचाने में डॉक्टर नाकाम हो रहे हैं ऐसे में बच्चों को दवा के साथ साथ अब दुआ की भी जरुरत है

News18 Bihar
Updated: June 19, 2019, 10:24 AM IST
दवा के साथ अब दुआ की दरकार: चमकी के कहर से बचने के लिए अस्पताल में शुरु हुआ यज्ञ
मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से बच्चों की सलामती के लिए यज्ञ करते लोग
News18 Bihar
Updated: June 19, 2019, 10:24 AM IST
बिहार के मुजफ्फरपुर में एईएस का कहर लगातार जारी है. इस बीमारी ने अबतक 112 बच्चों की जान ली है वहीं कई बच्चे अभी भी जिंदगी की जंग लड़ रहे हैं. इस बीच बच्चों को एईएस के प्रकोप से बचाने के लिेए लोग भगवान की शरण में भी जा रहे हैं.

पुजारी बोले

मुजफ्फरपुर के एसकेएमसीएच परिसर स्थित मंदिर में स्थानीय लोगों ने बच्चों की सलामती के लिए हवन यज्ञ शुरु कर दिया है. मंदिर से पुजारी के मार्गदर्शन में यह यज्ञ चल रहा है. लोगों का मानना है कि बच्चों को बीमारी से बचाने में डॉक्टर नाकाम हो रहे हैं ऐसे में बच्चों को दवा के साथ साथ अब दुआ की भी जरुरत है, इसे देखते हुए ही पूजा अराधना चल रही है. आयोजकों का मानना है कि वो भगवान से बारिश के लिए भी दुआएं कर रहे हैं ताकि जल्द से जल्द बारिश हो और तापमान गिरे ताकि मौत का सिलसिला थमे. एईएस की बीमारी से मुजफ्फरपुर जिले में करीब पांच सौ बच्चे बीमार हो चुके हैं और एक सौ से ज्यादा की मौत हो चुकी है.

500 पार हुआ बीमार बच्चों की संख्या

अकेले मुजफ्फरपुर के दो अस्पतालों में कुल 112 बच्चों की मौत हुई है वहीं 29 मौतें राज्य के अन्य जिलों में हुई है. बुधवार की सुबह से ही मुजफ्फरपुर में बच्चों के अस्पताल आने का सिलसिला जारी है और 25 बच्चे भर्ती किए गए हैं. बीमार बच्चों की बात करें तो ये संख्या 500 पार हो गया है. SKMCH और केजरीवाल अस्पताल में अभी भी 183 बच्चे इलाजरत हैं.

किस जिलें में कितनी मौत

मुजफ्फरपुर में 113 बच्चों की मौत, हाजीपुर में अबतक 11 बच्चों की मौत, समस्तीपुर में अबतक 5 बच्चों की मौत, मोतिहारी में अबतक 5 बच्चों की हुई मौत, पटना के PMCH में 1 बच्चे की हुई मौत, शिवहर में AES से 2 बच्चों की हुई मौत, बेगूसराय में AES से एक बच्चे की मौत, भोजपुर में AES से एक मासूम की मौत, सीवान में AES से एक बच्चे की मौत, बेतिया में AES से एक बच्चे की हुई मौत.
Loading...

सीएम पहुंचे थे मुजफ्फरपुर

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को मुजफ्फरपुर का दौरा किया था. इस दौरे के बाद बिहार के मुख्य सचिव दीपक कुमार ने कहा कि सीएम ने SKMCH के हर बेड पर जाकर जानकारी ली गई है अस्पताल में डॉक्टरों की कमी नहीं है बावजूद इसके पटना के पीएमसीएच और दरभंगा के डीएमसीएच से चिकित्सक भेजे जा रहे हैं. शाम तक ही आठ और डॉक्टर अस्पताल पहुंच जाएंगे. मुख्य सचिव ने यह भी बताया कि एसकेएमसीएच को 2500 बिस्तरों वाला अस्पताल बनाया जाएगा. इसके तहत 1500 बेड की व्यवस्था अगले वर्ष तक ही कर ली जाएगी.

ये भी पढ़ें- चमकी का कहर: शासन-सत्ता नाकाम रही, खामखां लीची बदनाम हुई!

ये भी पढ़ें- गर्मी से 100 से अधिक लोगों की मौत के बाद बिहार के इन 6 जिलों में धारा 144 लागू

रिपोर्ट- सुधीर कुमार
First published: June 19, 2019, 10:18 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...