SSR Death Case: सलमान और करण जौहर समेत 8 फिल्मी हस्तियों के खिलाफ पुनर्विचार याचिका दायर, 18 अगस्त को सुनवाई

सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में मुजफ्फरपुर सीजेएम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर.
सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में मुजफ्फरपुर सीजेएम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर.

सुशांत सिंह राजपूत (Sushant singh rajput) मौत का मामला फिलहाल सुर्खियों में है और लगातार सीबीआई (CBI) जांच की मांग इस मामले में हो रही है. 

  • Share this:
मुजफ्फरपुर. जिला एवं सत्र न्यायाधीश की कोर्ट ने फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant singh rajput) मौत मामले में पुनर्विचार याचिका दायर की गई है. अधिवक्ता सुधीर ओझा ने बिहार सरकार और 8 फिल्मी हस्तियों के खिलाफ पुर्नविचार याचिका (Review petition) पर  18 अगस्त को सुनवाई होगी. बता दें कि मुजफ्फरपुर की सीजेएम कोर्ट (CJM Court Muzaffarpur) ने इस विषय को क्षेत्राधिकार से बाहर बताते हुए अधिवक्ता सुधीर ओझा द्वारा दायर किए गए याचिका को 8 जुलाई को खारिज कर दिया था. अधिवक्ता ने फिल्म अभिनेता सलमान खान, करण जौहर, एकता कपूर (Salman Khan, Karan Johar, Ekta Kapoor) समेत 12 फिल्मी हस्तियों के खिलाफ इस मामले में याचिका दायर की थी.

इन फिल्मी हस्तियों के खिलाफ दर्ज हुई थी शिकायत

वकील सुधीर कुमार ओझा ने जानकारी देते हुए बताया कि उन्होंने मामले में फिल्म निर्माता महेश भट्ट, मुकेश भट्ट, कृति सेनन व रिया चक्रवर्ती को नामजद करने की भी मांग की थी. कोर्ट ने बहस सुनने के बाद सभी  बिंदुओं पर आदेश सुरक्षित रखा था. इस मामले में सलमान खान के वकील भी कोर्ट पहुंचे थे, लेकिन  कोर्ट ने इस मामले में कहा कि अभी इस पर प्रक्रिया आगे नहीं बढ़ी है इसलिए अभी उन्हें इजाजत नहीं दी जा रही.





बता दें कि बीते 17 जून को सुधीर कुमार ओझा ने फिल्म अभिनेता सलमान खान, निर्माता संजय लीला भंसाली, आदित्य चोपड़ा, करण जौहर, शाजिद नाडियावाल, एकता कपूर, भूषण कुमार व दिनेश विजयन पर शिकायत दर्ज कराई थी. इसके बाद उन्होंने 23 जून को महेश भट्ट समेत चार को आरोपी बनाने के लिए कोर्ट में अर्जी दाखिल की थी.
इन धाराओं में दर्ज है शिकायत

सुशांत सिंह मौत मामले में अधिवक्ता सुधीर ओझा ने आईपीसी की धारा 306, 109 504, 506 और 120बी के तहत कोर्ट में शिकायत दर्ज कराई है. कोर्ट को दिए पुनर्विचार याचिका में कहा गया है कि अभिनेता की हत्या षडयंत्र के तहत की गई है. जिसे बिना जांच के ही आत्महत्या का मामला बताया जा रहा है.

कोर्ट ने कहा था क्षेत्राधिकार में नहीं मामला

मुजफ्फरपुर की सीजेएम कोर्ट ने अधिवक्ता सुधीर ओझा द्वारा दर्ज किए गए परिवाद की सुनवाई करते हुए कहा था कि सुशांत सिंह मौत मामले में  मुजफ्फरपुर सीजीएम कोर्ट का क्षेत्राधिकार नहीं है इसलिए कोर्ट उनके आवेदन पर विचार नहीं कर सकता है. ऐसा कर कोर्ट ने आवेदन को खारिज कर दिया था.

हाजीपुर में भी दर्ज हुई है शिकायत

गौरतलब है कि हाजीपुर सिविल कोर्ट में भी बीते बुधवार को बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान, करण जौहर, एकता कपूर, संजय लीला भंसाली, आदित्य चोपड़ा, साजिद नाडियाडवाला, भूषण कुमार, दिनेश विज्यान के खिलाफ अभिनेता सुशांत सिंह आत्महत्या मामले में परिवाद पत्र दाखिल किया गया है. स्थानीय भाजपा नेता डॉक्टर अजीत कुमार सिंह ने आरोप लगाया है कि सुशांत सिंह राजपूत ने आत्महत्या नहीं की बल्कि उसे साजिश, षड्यंत्र एवं मानसिक प्रताड़ना के तहत आत्महत्या करने पर मजबूर किया गया था.

14 जून को सुशांत ने की थी कथित आत्महत्या

बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत ने 14 जून को मुंबई में स्थित अपने फ्लैट में कथित तौर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी. अब तक की जांच में सुशांत की मौत की वजह आत्महत्या और दम घुटना ही बताई जा रही है, लेकिन बावजूद इसके पुलिस मामले की गहराई तक जांच कर रही है. बिहार में इसको लेकर पटना सिविल कोर्ट में भी सवर्ण सेना की ओर से एक शिकायत दर्ज करवाई गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज