• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • मुजफ्फरपुर: विदेश से लौटे 320 लोगों की 228 गांवों में हो रही तलाश, आठ दिनों तक सर्वे करेगी टीम

मुजफ्फरपुर: विदेश से लौटे 320 लोगों की 228 गांवों में हो रही तलाश, आठ दिनों तक सर्वे करेगी टीम

मुजफ्फरपुर के 228 गांवों में सर्वे

मुजफ्फरपुर के 228 गांवों में सर्वे

विदेश से लौटने वाले लोगों के गांवों के लोग कोरोना के भय से आशंकित रहे हैं, लेकिन गांव-गांव जाकर अभियान के तौर पर हो रही पड़ताल से ग्रामीण राहत महसूस कर रहे हैं.

  • Share this:
मुजफ्फरपुर. कोरोना के संक्रमण (Corona infection) को फैलने से रोकने के लिए घर-घर जाकर सर्वे का काम शुरू किया गया है. सर्वे का काम उन गांव और वार्डों में किया जा रहा है जहां विदेश से लोग आये हैं. मुजफ्फरपुर में स्वास्थ्य विभाग की टीम 228 गांवों में अगले 8 दिनों में कोराना के लक्षणों वाले लोगों की तलाश करेगी. बता दें कि जिले में कोरोना बंदी से पहले कुल मिलाकर 320 लोग विदेश से लौट कर आये हैं इसमें  62 लोग नेपाल (Nepal) से आये हैं जबकि 258 लोग दूसरे देशों से मुजफ्फरपुर लौटे हैं .

जिले में कुल 351 टीम बनाई गई
स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्लस पोलियो की टीम द्वारा विदेश से घर लौटने वाले गांवों और मोहल्ले की सूची बनाई गई. ऐसे 228 गांवों में प्लस पोलियो की टीम घर-घर जाकर कोरोना के लक्षणों वाले लोगों का पता लगाने में शुक्रवार से जुट गई है. सर्वे के लिये मुजफ्फरपुर में 351 टीम  बनाई गई है. प्लस पोलियो का काम करने वाली टीम को इसके लिये लगाया गया है, लेकिन गांव की आशा की भूमिका सर्वे में महत्वपूर्ण होगी.

क्वेक-मेडिकल दुकानदारों से फीडबैक
सर्वे करने वाली टीम को  गांव के मेडिकल दुकानदारों और ग्रामीण चिकित्सकों से बीमार लोगों के बारे में भी जानकारी जुटाने की जिम्मेवारी सौंपी गई है. सर्वे टीम को विदेश से लौटने वाले जिन लोगों को होम क्वारंटाइन किया गया है, उनके स्वास्थ्य की रिपोर्ट भी सर्वे के दौरान लेनी है, लेकिन सबसे महत्वपूर्ण है क्वेक और दवा दुकानदारों से बीमार होने वाले लोगों के बारे में जानकारी लेना.  सर्वे करने वाली 8 दिनों के भीतर कम-से-कम 2 बार घर घर जाने के अलावे क्वेक और मेडिकल दुकानदार से कोरोना के लक्षण वाले मरीजों के ईलाज के बारे में पता लगाने की कोशिश करेगी.

सर्वे के दौरान टीम पश्नावली से प्रश्न पूछेगी
सर्वे करने वाली टीम को कोरोना से सबंधित प्रश्नावली भी दिया गया है ताकि इस बात की भी जानकारी मिल सके कि होम क्वारंटाइन होने वाले विदेश से लौटे लोग कहीं गांव के दूसरे लोगों के संपर्क में तो नहीं आये हैं. इसके लिये सर्वे टीम को फॉरमेट दिया गया है. घर के कोई लोग बीमार तो नहीं है इसकी तसल्ली लेने के बाद कोरोना के लक्षण वाले कोई लोग घर में है या नहीं इसकी जानकारी जुटाई जाएगी.

साथ ही विदेश से गांव या मोहल्ले से लौटे लोगों के संपर्क में तो नहीं आये हैं इसकी जानकारी सर्वे की टीम जुटाएगी. विदेश से घर लौटने वाले लोगों को पहले ही स्वास्थ्य विभाग की टीम ने 14 दिनों के होम क्वारंटाइन में रहने के लिए कहा था. साथ ही कई लोगों की स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्क्रीनिंग भी कराई गई है. कई लोगों के सैम्पल जांच के लिए भी भेजे गये थे. लेकिन सभी जांच रिपोर्ट निगेटिव आया था.

सर्वे से मिल पाएगी सही जानकारी
विदेश से लौटने वाले लोगों के गांवों के लोग कोरोना के भय से आशंकित रहे हैं, लेकिन गांव-गांव जाकर अभियान के तौर पर हो रही पड़ताल से ग्रामीण राहत महसूस कर रहे हैं. ग्रामीणों ने सर्वे की टीम को सहयोग का भरोसा दिलाया है. मुजफ्फरपुर में अभी तक 219 संदिग्ध लोगों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है. इसमें तबलीगी मरकज और दिल्ली के निजामुद्दीन ईलाके में जाने वाले लोगों की जांच रिपोर्ट भी शामिल है, लेकिन नालंदा के जिस युवक को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है उसमें जिले के 7 लोगों के विमान में साथ में यात्रा करने की रिपोर्ट थोड़ी चिंता पैदा कर रही है.

ये भी पढ़ें


Ground Report: कोरोना से मौत के बाद राघोपुर से जुड़ी सभी सीमा सील, 63 लोग किए गए क्वारंटाइन




Lockdown: नक्सल प्रभावित इलाकों में ड्रोन कैमरे से निगरानी कर रही CRPF, सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन रखने की कवायद

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज