मौत के 3 घंटे पहले ही अक्षत ने पिता को किया था कॉल, भोजपुरी फिल्म में रोल मिलने की बताई थी बात

बिहार के एक और बॉलीवुड एक्टर की मुंबई में मौत 
(अक्षत उत्कर्ष की फाइल फोटो)
बिहार के एक और बॉलीवुड एक्टर की मुंबई में मौत (अक्षत उत्कर्ष की फाइल फोटो)

मृतक कलाकार का नाम अक्षत उत्कर्ष (Akshat Utkarsh) है जो मुंबई में फिल्म इंडस्ट्री (Mumbai Film Industry) में अभी संघर्ष कर रहे थे. अक्षत बॉलीवुड के नवोदित कलाकार थे. वह मूल रूप से मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur) के सिकंदरपुर के रहने वाले थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 29, 2020, 2:44 PM IST
  • Share this:
मुजफ्फरपुर. बिहार के एक होनहार कलाकार की एक बार फिर मुंबई (Mumbai) में बेवक्त मौत हो गई. इस बार मौत का शिकार मुजफ्फरपुर का 26 वर्षीय अक्षत उत्कर्ष (Akshat Utkarsh) हुआ है. अक्षत की मौत के पीछे भी 'फीमेल फैक्टर' को जिम्मेदार बताया जा रहा है. साथ ही मुंबई पुलिस पर घोर लापरवाही का आरोप भी लगाया जा रहा है. बताया गया कि अक्षत उत्कर्ष को उसके अंधेरी वेस्ट स्थित आवास में फंदे से लटका हुआ पाया गया. प्रथम दृष्टया इस घटना को आत्महत्या (Suicide) कहा जा रहा है, लेकिन परिजन इसके पीछे गहरी साजिश बता रहे हैं. परिजनों का कहना है कि मौत से महज 3 घंटे पहले अक्षत की अपने पिता से फोन पर बातचीत हुई थी.

मुजफ्फरपुर के नगर थाना के सिकंदरपुर इलाके के निवासी राजू चौधरी के पुत्र अक्षत उत्कर्ष मुंबई में भोजपुरी फिल्मों (Bhojpuri Films) में अपनी किस्मत आजमा रहे थे. वो लखनऊ से एमबीए हैं. अक्षय पिछले 2 सालों से मुंबई में थे और अंधेरी वेस्ट के आरटीओ ऑनलाइन सुरेश नगर स्थित किराए के फ्लैट में रहते थे. उनके साथ एक दूसरी संघर्षशील को एक्ट्रेस स्नेहा चौहान रहती थी. अक्षत के चाचा विक्रम किशोर ने बताया कि स्नेहा चौहान और अक्षत के बीच काफी घनिष्ठता थी इसके अलावे चाचा विक्रम चौहान ने आकांक्षा दुबे नामक एक दूसरी लड़की के बारे में भी बताया है कि आकांक्षा अक्षत की एमबीए की क्लासमेट है और उसके भी अक्षर से दोस्ती के रिश्ते थे.

पिता के साथ अक्षत की बातचीत रात के करीब 8:45 बजे हुई और देर रात 11:30 के बाद स्नेहा चौहान ने अक्षत के भाई को बेंगलुरु में बताया कि अक्षत की मौत हो गई है. मौत की सूचना मिलते ही अक्षत के मुजफ्फरपुर के परिवार में कोहराम मच गया. 29 सितंबर को मामा रंजू सिंह और चाचा विक्रांत किशोर डेड बॉडी के लिए मुंबई पहुंचे.




रंजीत सिंह ने बताया कि उन्हें मुंबई पुलिस ने अंधेरी वेस्ट थाने में बुलाया और वहां सीधे-सीधे अक्षत का डेड बॉडी लेकर घर लौट जाने के लिए कहा. परिजनों को अक्षत के मौत की एफआईआर की कॉपी भी नहीं दी गई और जो डेड बॉडी के साथ चालान दिया गया वह भी मराठी भाषा में लिखा हुआ है, जिसे कोई समझ नहीं पा रहा है. विक्रांत किशोर ने बताया कि जब वो फ्लैट पर पहुंचे तो स्नेहा चौहान वहां मौजूद थी. उसने बताया कि अक्षत पंखे से गमछा का फंदा गले में लगाकर लटका हुआ था.

स्मार्ट दिखने वाले अक्षत को देखकर आसपास के सारे लोग सन्न रह गए. परिजनों ने आरोप लगाया है कि अक्षय की मौत से उसकी पार्टनर स्नेहा चौहान का गहरा रिश्ता है. परिजनों ने इस मामले में बिहार पुलिस से जांच की मांग की है. फिलहाल अक्षत की डेड बॉडी का दाह संस्कार कर दिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज