Assembly Banner 2021

रात के अंधेरे में शराब माफियाओं की ट्रक पार करवा रहे थे दारोगा जी, SP ने गिरफ्तार कर भिजवाया जेल

आरोपी दारोगा

आरोपी दारोगा

मुजफ्फरपुर में शुक्रवार की रात दारोगा बीके यादव अपने थाना क्षेत्र से इतर दूसरे इलाके में शराब माफिया से डीलिंग करता हुआ पकड़ा गया. इससे पहले भी ट्रक ड्राइवरों से वसूली के आरोप में उसे सस्पेंड किया जा चुका है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 28, 2021, 8:41 AM IST
  • Share this:
मुजफ्फरपुर. बिहार में जारी शराबबंदी (Liquor Ban) के बीच पूरे राज्य में शराब कारोबार और जहरीली शराब पीकर होने वाली मौत को लेकर हाहाकार मचा हुआ है. बेखौफ शराब माफिया अब पुलिस अधिकारियों की भी हत्या कर रहे हैं, लेकिन इस बीच मुजफ्फरपुर के एक पुलिसवाले ने वर्दी की शान को तार-तार कर दिया है. यह पुलिस ऑफिसर है दरोगा बीके यादव, जो वर्दी की आड़ में शराब का कारोबार करता है. एंटी लिकर टास्क फोर्स ने बीके यादव को शराब माफिया के साथ मिलकर स्प्रिट से लदी एक ट्रक को पार कराने के दौरान रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया है.

यह दारोगा अपने थाना क्षेत्र से बाहर जाकर दूसरे थाना इलाके में शराब के कारोबार को संरक्षण देता है. इस दरोगा की कहानी हम आपको अब तफ्सील से बताते हैं. शुक्रवार की रात सदर थाने के कच्ची पक्की में एक कार में सवार कुछ लोग स्प्रिट से लदे एक ट्रक को पार कराने की तैयारी कर रहे थे. गुप्त सूचना के आधार पर एंटी लिकर टास्क फोर्स स्प्रिट वाले ट्रक का पीछा कर रही थी. सदर थाना के कच्ची पक्की में स्प्रिट वाली ट्रक के पास कुछ लोग डीलिंग कर रहे थे तभी एन्टी लिकर टास्क फोर्स ने धावा बोल दिया. कुछ लोगों को दबोच लिया गया जबकि  कार लेकर ड्राइवर फरार हो गया लेकिन स्प्रिट का ट्रक पकड़ा गया और वहां मौजूद तीन लोग पकड़े गए.

पूछताछ के दौरान धावा दल को जब हकीकत की जानकारी लगी तो सभी हैरत में रह गए कि पकड़ा गया  एक शख्स करजा थाने का प्रभारी थानेदार बीके यादव है और दूसरा एक चौकीदार का बेटा रामसेवक यादव  है. टास्क फोर्स ने आनन-फानन में ट्रक को जब्त कर उसके ड्राइवर, बीके यादव और तीसरे चौकीदार पुत्र को गिफ्तार कर लिया और थाने पर ले आए. तीनों से पुलिस के बड़े अधिकारियों ने पूछताछ की और जेल भेज दिया. दारोगा बीके यादव का पहले का रिकॉर्ड भी अपराधिक है जिसके लिए उसे विभागीय सजा भी मिल चुकी है. बीके यादव पहले सदर थाने में तैनात था और रात्रि गश्ती के दौरान ट्रक से वसूली करता था.



रात्रि में ट्रक से वसूली करते हुए एक वीडियो वायरल हो गया, जिसके बाद उसे एसपी जयंत कांत ने सस्पेंड कर दिया था. सस्पेंशन टूटने के बाद उसे करजा थाने में बतौर पीएसआई तैनात किया गया था लेकिन करजा में रहते हुए भी बीके यादव का सदर थाने में चल रहा शराब लिंकेज खत्म नहीं हुआ. यही वजह है कि शुक्रवार की रात बीके यादव अपना थाना क्षेत्र पार कर सदर थाने में शराब माफिया से डीलिंग करता हुआ पकड़ा गया. एसपी जयंत कांत ने कहा है गिरफ्तार सभी लोगों को जेल भेज दिया गया है. दारोगा पर पूर्व में भी अपराधिक आचरण की वजह से कार्रवाई हुई है. इस मामले में भी गहराई से छानबीन की जा रही है और जो तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर आगे कठोर कार्रवाई की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज