अब मुजफ्फरपुर की शाही लीची और भागलपुर के जरदालु आम की होगी ऑनलाइन बिक्री, यहां करें ऑर्डर

बिहार में 32 से 34 हजार हैक्टेयर क्षेत्र में लीची का उत्पादन होता है.

बिहार में 32 से 34 हजार हैक्टेयर क्षेत्र में लीची का उत्पादन होता है.

मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur) की शाही लीची और भागलपुर के जरदालु आम खरीदने के लिए बागवानी मिशन की वेबसाइट पर जाकर ऑर्डर करना होगा.

  • Share this:
पटना. लॉकडाउन (Lockdown) के बीच आम और लीची प्रेमियों के लिए एक अच्छी खबर है. डाक विभाग (Postal Department) ने डिमांड करने पर लोगों तक ऑनलाइन आम और लीची पहुंचाने का फैसला किया है. खास बात यह है डाक विभाग अब मुजफ्फरपुर की शाही लीची और भागलपुर के जरदालु आम को उनके प्रेमियों के घर तक पहुंचाएगा. हिन्‍दुस्‍तान अखबार में छपी खबर के मुताबिक, डाक विभाग मुंबई में मैंगो मिशन के साथ मिलकर ऑनलाइन मार्केटिंग का काम कर रहा है.



दरअसल, लॉकडाउन की वजह से समय पर फल मार्केट्स में नहीं पहुंच पा रहे हैं. यही वजह है कि डाक विभाग ने ऑनलाइन आम और लीची की डिलिवरी का फैसला किया है. सूत्रों के मुताबिक, मुजफ्फरपुर की शाही लीची और भागलपुर के जरदालु आम खरीदने के लिए बागवानी मिशन की वेबसाइट पर जाकर ऑर्डर करना होगा. ऑर्डर करने के बाद डाक विभाग आपके घर तक आम और लीची पहुंचा देगा. ऑर्डर के बाद आम और लीची लेकर डाक विभाग की गाड़ी राजधानी पटना सहित अन्य जिलों में जाएगी. पोस्ट मास्टर जनरल, पूर्वी क्षेत्र अनिल कुमार ने बताया कि अभी फलों की कीमतों को लेकर बातचीत की जा रही है.



राष्‍ट्रीय स्‍तर पर है पहचान

बता दें कि मुजफ्फरपुर की शाही लीची को राष्ट्रीय स्तर पर पहचान है. साल 2018 में बौद्धिक संपदा कानून के तहत शाही लीची को जियोग्राफिकल आइडेंटिफिकेशन (जीआई) टैग दे दिया गया था. बिहार लीची उत्पादक संघ ने जून 2016 को जीआई रजिस्ट्री ऑफिस में शाही लीची के जीआई टैग के लिए आवेदन किया था. मुजफ्फरपुर स्थित राष्ट्रीय लीची अनुसंधान केंद्र के निदेशक विशालनाथ ने कहा था कि जीआई टैग मिलने से शाही लीची की बिक्री में नकल या गड़बड़ी की संभावनाएं काफी कम हो जाएंगी.
व्‍यापक पैमाने पर लीची की खेती



दरअसल, बिहार में 32 से 34 हजार हैक्टेयर क्षेत्र में लीची की खेती होती है. बिहार देश के लीची उत्पादन का 40 फीसदी उत्पादन करता है. यहां कुल 300 मैट्रिक टन लीची का उत्पादन होता है. बिहार के कुल लीची उत्पादन में से 70 फीसदी उत्पादन मुजफ्फरपुर में होता है. मुजफ्फरपुर में 18 हजार हैक्टेयर क्षेत्र में लीची की खेती होती है. मुजफ्फरपुर में शाही लीची का उत्पादन सबसे अधिक करीब 12 हजार हैक्टेयर क्षेत्र में होता है. बिहार का मुजफ्फरपुर लीची को लेकर पूरे विश्व में प्रसिद्ध है. मुजफ्फरपुर की प्रसिद्ध शाही लीची देश-दुनिया के लगभग सभी भागों में जाती है.



ये भी पढ़ें- 



बंदर भगाने वाला निकला कोरोना पॉजिटिव, रेल भवन के कई अधिकारी क्वारंटाइन



Lockdown के बाद दिल्ली मेट्रो में कैसा होगा सफर, जानिए 10 प्वाइंट्स


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज