रिटायर्ड दारोगा के घर से चोरों ने उड़ाई 45 लाख की संपत्ति, कोरोना की वजह से टली थी बेटी की शादी


मुजफ्फरपुर में चोरों ने रिटायर्ड दारोगा के घर से चोरों ने उड़ाई 45 लाख की संपत्ति (सांकेतिक चित्र)

मुजफ्फरपुर में चोरों ने रिटायर्ड दारोगा के घर से चोरों ने उड़ाई 45 लाख की संपत्ति (सांकेतिक चित्र)

Muzaffarpur News: बिहार के मुजफ्फरपुर में हुई चोरी की इस घटना के बाद पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ एफआईआऱ दर्ज कर लिया है. रिटायर्ड दारोगा ने बेटी की शादी के लिए जमीन बेचकर 15 लाख नगद, काफी सारे जेवरात और कपड़े खरीद कर घर में रखे थे.

  • Share this:
मुजफ्फरपुर. बिहार के मुजफ्फरपुर में नाइट कर्फ्यू का लाभ उठाते हुए चोरों ने एक रिटायर्ड दारोगा के घर से 45 लाख की संपत्ति पर हाथ साफ कर दिया. हैरानी की बात यह है कि चोरी का इल्जाम मकान मालिक और पड़ोसियों पर लगाया गया है. रिटायर्ड दारोगा राम किशोर सिंह ने काज़ी महमदपुर थाने में चोरी का एफआईआर दर्ज कराया है जिसमें मकान मालिक राजीव सिंह, उनकी पत्नी और दो पड़ोसियों पर लाखों की संपत्ति चुरा लेने का इल्जाम लगाया है.

मिली जानकारी के मुताबिक दरोगा राम किशोर सिंह काजी मोहम्मदपुर थाना के सैदपुरा में राजीव सिंह के मकान में किराए पर रहते हैं. वो मूल रूप से वे दरभंगा जिला के बहादुरपुर थाना अंतर्गत तरौनी गांव के निवासी हैं. बीते 23 अप्रैल को रिटायर्ड दारोगा की तबीयत खराब हुई थी, उसके बाद परिजन उन्हें लेकर दरभंगा चले गए. इलाज कराने के बाद दारोगा के बेटा रवि भूषण जब मुजफ्फरपुर अपने आवास पर  पहुंचे तो चोरी की वारदात हो चुकी थी. बताया गया है कि राम किशोर सिंह की बेटी की शादी थी जिसके लिए जमीन बेचकर 15 लाख नगद, काफी सारे जेवरात और कपड़े खरीद कर घर में रखे गए थे.

लॉकडाउन की वजह से शादी तो टल गई लेकिन गहने कपड़े और नगद घर में ही पड़े थे. रामकिशोर सिंह की अचानक तबीयत खराब हो जाने की वजह से परिजन उन्हें लेकर निकल गए, इस बीच नाइट कर्फ्यू की वजह से आम लोगों की गतिविधि रुक गई और इसी का फायदा उठाकर उनके घर में हाथ साफ कर दिया गया. रिटायर्ड दरोगा के आवेदन पर काजी मोहम्मदपुर थाना पुलिस ने एफआईआर दर्ज करने के साथ ही मामले की छानबीन शुरू कर दी है. काजी मोहम्मदपुर के थानेदार इंस्पेक्टर शुजाउद्दीन ने बताया है कि पुलिस इस मामले में गहनता पूर्वक छानबीन कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज