लाइव टीवी

अनोखा आंदोलन: लोटा लेकर BDO ऑफिस पहुंचे ग्रामीण, बोले- शौच से गंदा कर देंगे

Praveen Thakur | News18 Bihar
Updated: January 16, 2020, 9:27 AM IST
अनोखा आंदोलन: लोटा लेकर BDO ऑफिस पहुंचे ग्रामीण, बोले- शौच से गंदा कर देंगे
ग्रामीणों ने लोटा लेकर औराई प्रखंड कार्यालय में कमीशनखोरी के विरोध में प्रदर्शन किया.

जनसंघर्ष मोर्चा (Jan Sangharsh Morcha) के बैनर तले जुटे लोगों ने 24 जनवरी तक शौचालय निर्माण के लिए सरकार द्वारा दी जाने वाली प्रोत्साहन राशि का भुगतान न होने पर प्रखंड परिसर को शौच से ही गंदा करने का ऐलान किया है.

  • Share this:
मुजफ्फरपुर. दो साल से अधिक समय से शौचालय निर्माण के बाद भी जब प्रोत्साहन राशि नहीं मिली तो ग्रामीणों ने अधिकारियों के पास आकर विरोध करने का फैसला लिया. इसी क्रम में औराई प्रखण्ड मुख्यालय में सुबह-सुबह लोटे के साथ ग्रामीण आ धमके. सर्द मौसम में भी ग्रामीणों की भीड़ प्रखण्ड मुख्यालय मेंं जमी रही. ग्रामीणों ने गांव  में भुगताान के ₹2000 कमीशन मांगे जाने का विरोध किया.

जनसंघर्ष मोर्चा के बैनर तले जुटे लोगों ने 24 जनवरी तक शौचालय निर्माण के लिए सरकार द्वारा दी जाने वाली प्रोत्साहन राशि के भुगतान नहीं होने पर प्रखंड परिसर को शौच से ही गंदा कर लेने का ऐलान किया है. प्रदर्शनकारियों ने फिर से लोटा लेकर ही प्रखंड कार्यालय पहुंचने की चेतावनी दी है. प्रदर्शन में बड़ी संख्या में पुरुषों के साथ महिलाओं ने भी भाग लिया.

कैम्प लगाकर भुगतान करने का दिया था आदेश
जिले के सभी 16 प्रखंडों में शौचालय निर्माण के प्रोत्साहन राशि के भुगतान के लिए कैम्प लगाने का निर्देश डीएम ने दिया था, लेकिन औराई में महज 35 फ़ीसदी लोगों को ही अब तक भुगतान किया गया. जिन लोगों को शौचालय के बदले भुगतान भी किया गया, उनसे ₹2000 की कमीशन ली गई. आरोप है कि बिना कमीशन के शौचालय निर्माण के प्रोत्साहन राशि  खाते में नहीं आएगी. ऐसे में ग्रामीणों ने एकजुट होकर सरकार और प्रशासन का ध्यान इस कमीशनखोरी की ओर दिलाने का फैसला लियाा है.

ग्रामीणों ने ऋण लेकर बनाया है शौचालय
दरअसल, शौचालय बनाने वाले अधिकांश लोग गरीब हैं. सरकार और प्रशासन द्वारा प्रोत्साहित करने पर इनलोगों ने अपने घर में शौचालय बनाया है. इनमें से अधिकांश ऐसे परिवार हैं जिन्होंने महाजनों से शौचालय बनाने के लिए ऋण ले रखा है. गरीब इस इंतजार मेंं थे कि प्रोत्साहन राशि मिलते ही महाजनों को वे चुकता कर देंगे, लेकिन अब कमीशन की मांग इनकी परेशानी बढ़ा रही है. ऐसे में आंदोलन ही एक मात्र रास्ता बचता है.

ये भी पढ़ें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मुजफ्फरपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 16, 2020, 8:51 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर