लाइव टीवी

पेड़ काटने वालों पर 'मर्डर केस' चलाने की मांग कर रहे हैं लोग, पढ़ें क्या है मामला

News18 Bihar
Updated: October 26, 2019, 11:09 AM IST
पेड़ काटने वालों पर 'मर्डर केस' चलाने की मांग कर रहे हैं लोग, पढ़ें क्या है मामला
मुजफ्फरपुर के एक गांव में नलकूप तक तार पहुंचाने के लिेए पेड़ काट डाले गए.

बिजली विभाग द्वारा 14 साल से बंद पड़े नलकूपों तक बिजली पहुंचाने की कोशिश में मनरेगा के तहत लगाए गए हरे-भरे पेड़ों को काटा जा रहा है. इन पेड़ों को काफी देखभाल के बाद ग्रामीणों ने बचाया था.

  • Share this:
मुजफ्फरपुर. बढ़ते प्रदूषण को लेकर चारों तरफ पर्यावरण की चिंता जाहिर की जा रही है. जलवायु परिवर्तन (Climate change) को लेकर तमाम नीतियां और कार्यक्रम तय किए जा रहे हैं. बिहार (Bihar) में भी पर्यावरण की बिगड़ती स्थिति को संभालने के लिए शनिवार से जल-जीवन-हरियाली मिशन (Jal Jeevan Hariyali Mission) की शुरुआत हो रही है, वहीं दूसरी ओर लगातार पेड़ों का काटा जाना और उसे नुकसान पहुंचाने का सिलसिला भी बदस्तूर जारी है. मामला मुजफ्फपुर (Muzaffarpur) का है जहां बिजली विभाग पेड़ काटकर बिजली का कनेक्शन देने की तैयारी कर रहा है. जिले में मनरेगा के तहत लगाए गए सैकड़ों पेड़ों को बिजली विभाग ने क्षतिग्रस्त कर दिया है. ग्रामीण अब पड़े काटने के दोषियों के खिलाफ हत्या जैसा अपराध मान कर इसपर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं.

मनरेगा के तहत लगाए गए थे हजारों पेड़
बता दें कि मुजफ्फरपुर के मुशहरी प्रखंड स्थित मणिका विशनपुर चांद पंचायत में नौ साल पहले मनरेगा के तहत हजारों पेड़ लगाए गए थे. मणिका विशनपुर चांद से विशनपुर मनोहर जाने वाली पक्की सड़क के दोनों किनारे लगे पेड़ अब काफी बड़े हो गए हैं. इससे न केवल स्थानीय स्तर पर पर्यावरण की स्थिति सुधरी है बल्कि पेड़ लगने के बाद सड़कों पर चलना आस-पास के ग्रामीणों को सुकून दे रहा है. लेकिन, अचानक इस पेड़ को बिजली विभाग द्वारा काटे जाने से ग्रामीण सदमे में और आक्रोशित हैं.

मनरेगा के तहत लगाए गए पेड़ों से गांव का पर्यावरण हरा-भरा हो गया है


नलकूप तक बिजली पहुंचाने को काटे गए पेड़
बता दें कि बिजली विभाग ने गांव में 14 साल पहले लघु सिंचाई विभाग के बंद पड़े नलकूप को चालू करने के लिए इन पेड़ों को काटना शुरू किया है. कई पेड़ों को चार से पांच फीट तक की ऊंचाई से काट दिया गया है जबकि नौ साल पुराने पेड़ काफी मोटे हो चुके हैं. इनकी टहनियां और शाखाएं भी काफी बड़ी हो गई हैं. ग्रामीणों को बिना बताए बिजली विभाग के कर्मी काटे गए पेड़ के अवशेष को कई गाड़ियों पर लेकर चले गए हैं.

बंद पड़े नलकूप तक बिजली पहुंचाने के लिए काटे गए पेड़

Loading...

वैकल्पिक उपाय नहीं ढूंढे गए
दरअसल लघु सिंचाई विभाग के प्रधान सचिव के.के पाठक ने सूबे के सभी बंद पड़े नलकूपों तक बिजली कनेक्शन देने का निर्देश दिया है. इसी के तहत आनन-फानन में मुजफ्फरपुर में बिजली विभाग जल्द से जल्द पुराने जर्जर तार और पोल को बदलते हुए नलकूप तक बिजली देने की कोशिश कर रहा है. इसी क्रम में रास्ते में आने वाले पेड़ों को बचाने का रास्ता ढूंढने के बजाय उन्हें काटा जा रहा है.

हत्या के बराबर अपराध मान रहे ग्रामीण
मुशहरी के मणिका विशनपुर चांद से लेकर विशनपुर मनोहर जाने वाली पक्की सड़क के दोनों ओर लगे सैकड़ों पेड़ों को बिजली विभाग के जेई विशाल कुमार की उपस्थिति में उनके साथ आए कर्मियों और मजदूरों ने कई पेड़ काट डाले हैं. ग्रामीण पेड़ काटने को हत्या के बराबर अपराध बताकर कारवाई की मांग कर रहे हैं.

पेड़ काटने के दोषियों के खिलाफ हत्या जैसा अपराध बताकर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं ग्रामीण


नहीं मिल पाया सिंचाई का लाभ
दरअसल वर्ष 2005 में लघु सिंचाई विभाग ने मणिका विशनपुर चांद गांव में सिंचाई के लिए नलकूप लगाया था, लेकिन नलकूप चालू होते ही बंद हो गया. किसानों को एक भी दिन खेतों में नलकूप से सिंचाई का लाभ नहीं मिला. इस बीच नलकूप के लिए लगाये गये दो ट्रांसफॉर्मरों में से एक की चोरी भी हो गई. किसानों के अनुसार नलकूप चालू करने के लिए बिजली विभाग ने खराब गुणवत्ता वाली बिजली के तार को लगाया था जिसके कारण कभी नलकूप चालू ही नहीं हुआ.

प्रदर्शन करने की दी चेतावनी
न्यूज़ 18 से बातचीत में मणिका विशनपुर चांद के मुखिया अरविंद कुमार सिंह और ग्रामीण दिग्विजय पाठक ने बताया कि बिजली विभाग को दोषी अधिकारियों पर कारवाई होनी चाहिए. साथ ही आगे से पेड़ कटने पर ग्रामीण सड़क पर उतर कर अपना आक्रोश व्यक्त करेंगे.

कार्रवाई का दिया भरोसा
उधर बिजली विभाग के कार्यपालक अभियंता मनोज कुमार ने न्यूज़ 18 से कहा कि नलकूप चालू करने के लिए अब आगे से पेड़ नहीं काटा जाएगा. एलटी तार लगाकर नलकूप को चालू किया जाएगा. हालांकि कार्यपालक अभियंता ने बाकी बचे पेड़ को नहीं काटने भरोसा तो दिया लेकिन पेड़ काटने के दोषियों पर कार्रवाई की बात से कन्नी काटते नजर आए.

(रिपोर्ट- प्रवीण ठाकुर)

ये भी पढ़ें-


News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मुजफ्फरपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 26, 2019, 10:20 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...