चमकी के बाद बिहार में डायरिया का प्रकोप, अस्पताल में भर्ती हुए 85 बीमार

नालंदा जिले के राजगीर प्रखंड के जत्ती भगवानपुर गांव में डायरिका के चलते 85 से अधिक लोग बीमार हो गए हैं. बीमारो में महिलाएं, बच्चे और पुरुष सभी शामिल हैं.

  • Share this:
बिहार एक्यूट इनसेफेलाइटिस सिंड्रोम यानी चमकी बुखार के प्रकोप से जूझ ही रहा है कि अब डायरिया के रूप में एक नई मुसीबत लोगों के सामने खड़ी हो गई है. नालंदा जिले के राजगीर प्रखंड के जत्ती भगवानपुर गांव में डायरिका के चलते 85 से अधिक लोग बीमार हो गए हैं. डायरिया के चपेट में बच्चे, महिलाएं और पुरुष सभी शामिल हैं. डायरिया पीड़ित लोगों को इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है.



घटना की जानकारी देते हुए पीड़ितों के परिजनों ने कहा कि मंगलवार रात गांव में एक भोज का आयोजन किया गया था. जिसमें खाना खाने के बाद लोगों ने उल्टी और दस्त की शिकायत की. जिसके बाद सभी को आनन-फानन में नजदीकी अनुमंडलीय अस्पताल में भर्ती कराया गया. इलाज के बाद कई लोग अब खतरे से बाहर हैं और डिस्चार्ज होकर घर जा चुके हैं.



डायरिया के शिकार 85 में से 40 लोग ठीक होकर घर लौटे 





इतनी बड़ी संख्या में डायरिया से बीमार लोगों की खबर पाकर राजगीर एसडीएम संजय कुमार ने अस्पताल पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया. डॉक्टरों ने कहा कि सभी बीमार लोग फिलहाल खतरे से बाहर हैं. कुल 85 लोग डायरिया से प्रभावित हुए थे, जिनमें से 45 को छोड़कर बाकी अन्य लोगों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है.
बता दें कि बिहार के मुजफ्फरपुर समेत कई जिलों में इन दिनों चमकी बुखार यानी इन्सेफेलाइटिस का कहर जारी है. बुधवार को मुजफ्फरपुर के SKMCH अस्पताल में 3 और बेतिया में इससे 1 बच्चे की मौत हो गई. जिससे मौत का आंकड़ा पूरे राज्य में बढ़कर अब 141 हो गया है.



(रिपोर्ट-अभिषेक)



ये भी पढ़ें: चमकी का कहर: शासन-सत्ता नाकाम रही, खामखां लीची बदनाम हुई!



एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज