अपना शहर चुनें

States

Bihar Election Result 2020: हिलसा विधानसभा सीट पर हुआ दिलचस्प मुकाबला, जेडीयू ने महज 12 वोटों से RJD को हराया

Bihar Election Result: आरजेडी के अत्री मुनि उर्फ शक्ति सिंह यादव की 12 वोट से हार.
Bihar Election Result: आरजेडी के अत्री मुनि उर्फ शक्ति सिंह यादव की 12 वोट से हार.

Bihar Assembly Election Result 2020 Updates: 2000 के बाद हुए तीन चुनावों में हिलसा सीट पर जेडीयू का कब्जा रहा. लेकिन पिछले चुनाव में आरजेडी ने इस सीट पर कब्जा जमा लिया. आरजेडी के शक्ति सिंह यादव यहां से निवर्तमान विधायक हैं.

  • Share this:
नालंदा. हिलसा विधानसभा सीट से जनता दल यूनाइटेड के कृष्णमुरारी शरण उर्फ प्रेम मुखिया ने राष्ट्रीय जनता दल के अत्रि मुनि उर्फ शक्ति सिंह यादव को मात्र 12 मतों से हराया. चुनाव आयोग की वेबसाइट पर जारी सूचना के अनुसार, जेडीयू प्रत्याशी कृष्ण मुरारी शरण उर्फ प्रेम मुखिया को 61,848 वोट मिले हैं, जबकि निकटतम प्रतिद्वंद्वी आरजेडी उम्मीदवार अत्री मुनि उर्फ शक्ति सिंह यादव को 61,836 वोट मिले हैं.

बिहार के नालंदा जिले में पड़ने वाली हिलसा विधानसभा सीट (Hilsa Assembly Seat) साल 1957 में अस्तित्व में आई. यहां आखिरी वक्त तक काफी कांटे का मुकाबला चलता रहा. ऐसे में पोस्टल बैलेट की रिकाउंटिंग की, जिसे बाद जेडीयू प्रत्याशी ने आरजेडी को महज 12 वोटों से हरा दिया. 2015 से पहले के तीन चुनावों में यहां पर लगातार जेडीयू का कब्जा रहा.

चुनावी इतिहास



हिलसा विधानसभा सीट पर साल 1957 के पहले चुनाव में कांग्रेस के लाल सिंह त्यागी को जीत मिली. लेकिन 1962 का चुनाव लाल सिंह त्यागी निर्दलीय जगदीश प्रसाद से हार गये. फिर 1967 के चुनाव में कांग्रेस के एके सिंह को जीत मिली, जिन्होंने जगदीश प्रसाद को हराया. उसके बाद 1985 में कांग्रेस को कब्जा जमाने का मौका मिला. कांग्रेस के सुरेन्द्र प्रसाद तरुण ने जीत हासिल की. बीच के तीन चुनावों को जगदीश प्रसाद को जीत मिली. वे दो बार निर्दलीय और एक बार बीजेपी के टिकट पर चुनाव जीते. 1990, 1995 और 2000 के चुनाव में यहां निर्दलीयों ने बाजी मारी. 2005 में जेडीयू ने इस सीट पर अपना कब्जा जमाया. पार्टी यहां तीन बार लगातार जीत हासिल करती रही. 2005 में हुए दो चुनावों में जेडीयू के रामचरित्र प्रसाद सिंह जीते. इससे पहले 2000 के चुनाव में वो निर्दलीय विजयी हुए थे. 2010 के चुनाव में जेडीयू के ऊषा सिन्हा ने एलजेपी के रीना देवी को पटखनी दी थी.
हिलसा सीट से सबसे ज्यादा चार बार जगदीश प्रसाद विधायक चुके गये. उसके बाद जेडीयू के रामचरित्र प्रसाद सिंह 3 बार विजयी हुए.

बिहार चुनाव के नतीजों के पल-पल का हर अपडेट यहां देखें LIVE

2015 चुनाव का हाल

पिछले विधानसभा चुनाव में हिलसा सीट पर 53.49% वोटिंग हुई थी. आरजेडी के शक्ति सिंह यादव ने एलजेपी की दीपिका कुमार को करीब 26 हजार मतों से हराया था. शक्ति सिंह को 72,347 जबकि दीपिका को 46,271 मत प्राप्त हुए थे.

सामाजिक स्वरूप 

हिलसा विधानसभा क्षेत्र में मतदाताओं की कुल संख्या 2,64,309 है. जिसमें से 1,40,074 पुरुष और 1,24,309 महिला मतदाता हैं. परबलपुर, करई परसुराई, थरथरी और हिलसा प्रखंड इस क्षेत्र में शामिल हैं. 2011 की जनगणना के मुताबिक यहां की कुल आबादी 4,09,969 है. जिसमें से 87.55% जनसंख्या गांव में और 12.45% शहर में रहते हैं. कुल जनसंख्या का 18.27 फीसदी एससी और 0.04 प्रतिशत एसटी की आबादी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज