Home /News /bihar /

cyber criminals did fraud behalf of financial help from film actor sonu sood bramk

अभिनेता सोनू सूद से मदद मांगते ही खाली हो गया इस मरीज का बैंक अकाउंट, जानें पूरा मामला

बिहार के नालंदा में अभिनेता सोनू सूद के नाम पर पैसे ठगने का मामला सामने आया है

बिहार के नालंदा में अभिनेता सोनू सूद के नाम पर पैसे ठगने का मामला सामने आया है

Sonu Sood Charity: बिहार में अभिनेता सोनू सूद के नाम पर ठगी करने का ये मामला नालंदा से आया है. नालंदा के एक शिक्षक जो कि बीते एक साल से कोरोना से जंग लड़ रहा है ने मदद के लिए सोनू सूद से गुहार लगाई थी. इस शख्स को इलाज के लिए 45 लाख रुपए की मदद की दरकार है,

अधिक पढ़ें ...

नालंदा. बॉलीवुड के अभिनेता सोनू सूद लोगों की मदद करने के लिए जाने जाते हैं लेकिन इलाज के लिए मदद मांगना एक बीमार शिक्षक को उस समय महंगा पड़ गया जब वो साइबर ठगों की करतूत का शिकार बन गया. सोनू सूद से मदद मांगने के चक्कर में बिहार का ये शिक्षक साइबर ठगों के हत्थे चढ़ गया और शातिर तरीके से उसके अकाउंट को खाली कर दिया गया.

सोनू सूद के नाम पर ठगी का ये मामला बिहार के नालंदा जिले है. नालंदा के बिहार थाना क्षेत्र के द्वारिका नगर मोहल्ले के रहने वाले निजी शिक्षक शुभम कुमार पिछले एक साल से जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहे हैं. वर्ष 2021 में कोरोना संक्रमित होने के बाद उनका फेफड़ा पूरी तरह से संक्रमित हो गया है. चेन्नई स्थित एमजीएम हेल्थकेयर में उनके इलाज के लिए 45 लाख रुपए की मांग की गई है. फिलहाल ये शिक्षक ऑक्सीजन सपोर्ट पर बिहारशरीफ में किराये के मकान पर रह रहा है.

अपने इलाज के लिए वो राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री से लेकर मुख्यमंत्री तक से गुहार लगा चुका है पर किसी ने उसकी सुध नहीं ली. मदद की आस में बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद को ट्वीट कर उसने इलाज की गुहार लगाई थी. शनिवार की देर शाम उसके मोबाइल पर किसी अनजान शख्स ने फोन कर अपने आप को सोनू सूद का मैनेजर बोला और उसे एक लिंक भेज कर रजिस्ट्रेशन करने को कहा. इस बात पर पीड़ित शिक्षक को कुछ शक हुआ तो खाते में दो हजार रुपए छोड़कर सारे रुपए उसने भाई के अकाउंट में ट्रांसफर कर दिया.

दो हजार रुपए रहने के बाद उसने जब दिए गए लिंक को डाउनलोड कर रजिस्ट्रेशन की प्रकिया की तो कुछ देर बाद उसके अकाउंट से वो रुपए भी गायब हो गये. इसके बाद पीड़ित शिक्षक का माथा ठनका और उसने अपने आप को ठगा महसूस किया. पीड़ित की मां की मानें तो उनका पुत्र जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रहा है. हर दिन 4 घण्टे ऑक्सीजन के सपोर्ट पर रखना पड़ता है. पुत्र के इलाज के लिए वो अपना खेत तक बेच चुके हैं. घर का एकमात्र कमाऊ सदस्य उनका बड़ा पुत्र शुभम ही था जो कोचिंग चलाकर अपने बुजुर्ग माता-पिता का भरण पोषण करता था. उन्हें अपने पुत्र के इलाज के लिए किसी रहनुमा की जरूरत है जो उनके इलाज में मदद कर सके.

Tags: Bihar News, Nalanda news, Sonu sood

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर