बिहार: दो जजों की 'दरियादिली' ने नालंदा की बेटी को अलीगढ़ जेल से दिलाई आजादी, जानें पूरा मामला

अलीगढ़ जेल से जमानत पर रिहा हुई नालंदा की पुष्पलता.

अलीगढ़ जेल से जमानत पर रिहा हुई नालंदा की पुष्पलता.

Nalanda News: नालंदा जिले के थरथरी थाना क्षेत्र स्थित आस्था गांव की पुष्पलता दो साल से लापता थी. बताया जा रहा है कि विक्षिप्त अवस्था में घर से निकली और वह अलीगढ़ पहुंच गई. वहां उसे अपहरण व चोरी के आरोप में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया.

  • Share this:

नालंदा. पूरा देश कोरोना संक्रमण का दंश झेल रहा है. देश में अधिकतर न्यायालय भी कोरोना संक्रमण के खतरे को लेकर बंद हैं. ऐसे में कई बंदियों जमानत याचिकाओं पर भी सुनवाई नहीं हो पा रही है. वहीं, इस बंदी के दौर में भी जज की मानवीय संवेदना ने एक महिला बंदी को जेल से रिहा कराने में अहम भूमिका निभाई. अदालत की बंदी होने के बावजूद न्यायिक कार्य करते हुए महिला को जमानत देते हुए न सिर्फ उसके पति से मिलवाया बल्कि अलीगढ़ जेल से नालंदा की बेटी को रिहा कराया.

दरअसल दो साल पहले महिला विक्षिप्त होकर परिवार से बिछुड़ उत्तरप्रदेश के अलीगढ़ पहुंच गयी थी.  वहीं जेल में रहते हुए महिला ने बेटे को जन्म दिया. इसमें नालंदा किशोर न्याय परिषद के प्रधान दंडाधिकारी मानवेंद्र मिश्र व नालंदा जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव आदित्य पांडेय ने अहम भूमिका निभाई. अलीगढ़ के तत्कालीन सचिव एसडीएम दीपक कुमार व वर्तमान सचिव महेंद्र कुमार ने भी इसमें अहम भूमिका निभाई.

ये है पूरा मामला

बताया जाता है कि नालंदा जिले के थरथरी थाना क्षेत्र स्थित आस्था गांव की पुष्पलता दो साल से लापता थी. विक्षिप्त अवस्था में घर से निकली और वह अलीगढ़ पहुंच गई. वहां उसे अपहरण व चोरी के आरोप में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया. गिरफ्तारी के वक्त वह महिला गर्भवती थी. हालांकि, जेल में मैनुअल के अनुसार उसका इलाज हुआ और वह स्वस्थ हो गई. इसी दौरान, विक्षिप्त अवस्था में ही उसने एक बेटे को जन्म दिया. उसकी देखरेख वहां के बाल कल्याण समिति ने की थी.
पूरी हुई कागजी प्रक्रिया

कोरोना काल में बंदियों की रिहाई पर सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के आलोक में 12 मई को अलीगढ़ जिला विधिक सेवा प्राधिकार के अध्यक्ष महेंद्र कुमार की पहल पर सीजेएम ने उन्हें दो महीने की अंतरिम जमानत दे दी. इसके बाद कागजी प्रक्रिया पूरी कर महिला व बच्चे को उसके पिता की मौजूदगी में पति  रवि रंजन व पिता दुर्गेश प्रसाद से मिलवाया और को सुपुर्द कर दिया गया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज