जेडीयू विधायक ने सिविल सर्जन से की दबंगई, हड़ताल पर गए डॉक्टर

News18 Bihar
Updated: August 31, 2019, 4:37 PM IST
जेडीयू विधायक ने सिविल सर्जन से की दबंगई, हड़ताल पर गए डॉक्टर
नालंदा में अस्थावां के जेडीयू विधायक जितेंद्र कुमार ने सिविल सर्जन के साथ बदसलूकी की.

विधायक को थोड़ी देरी भी बर्दाश्त नहीं थी. उन्होंने रात्रि ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर पवन कुमार से के साथ डांट फटकार कर उन्हें पोस्टमार्टम से रोकते हुए भगा दिया.

  • Share this:
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा के अस्थावां विधान सभा क्षेत्र के जदयू विधायक हमेशा से विवादों में रहे हैं. एक बार फिर उन्होंने ऐसा कारनामा कर दिया कि डॉक्टरों ने काम काज ठप कर दिया. दरअसल उन्होंने सदर अस्पताल के डॉक्टरों और सिविल सर्जन से बदसलूकी की जिस कारण डॉक्टरों में रोष है और उन्होंने कामकाज ठप कर दिया है.

दल बल के साथ पहुंचे जेडीयू विधायक
बताया जा रहा है कि सारे थाना क्षेत्र इलाके के बड़ेपुर गांव निवासी जितेंद्र यादव की स बीती रात संदिग्ध अवस्था में मौत हो गई. इसके बाद परिजन शव को पोस्टमार्टम के लिए बिहार सदर अस्पताल लेकर पहुंचे. जितेंद्र यादव जेडीयू से जुड़े रहे और जिला कार्यकारिणी के सदस्य भी थे, इसलिए जेडीयू विधायक अपने दल बल के साथ अस्पताल पहुंच गए.

डॉक्टर को जेडीयू विधायक ने भगाया

यहां तक तो ठीक था, लेकिन इसके बाद जेडीयू विधायक डॉ जितेंद्र कुमार ने सिविल सर्जन को फोन कर पोस्टमार्टम जल्दी कराने की बात कही. थोड़ी देर बाद डॉक्टरों की टीम भी पोस्टमार्टम के लिए पहुंच गई, लेकिन विधायक को थोड़ी देरी भी बर्दाश्त नहीं थी. बस क्या था, उन्होंने रात्रि ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर पवन कुमार से के साथ डांट फटकार कर उन्हें पोस्टमार्टम से रोकते हुए भगा दिया.

nalanda
नालंदा सदर अस्पताल में डॉक्टरों ने काम काज ठप कर दिया है.


सिविल सर्जन से भी विधायक ने की बदसलूकी
Loading...

घटना की जानकारी मिलते ही जैसे सिविल सर्जन पहुंचे विधायक ने तो सिविल सर्जन के साथ भी बदसलूकी की और खरी-खोटी सुनाते हुए सिविल सर्जन को ही निष्क्रिय कह दिया. इस घटना के बाद बिहार शरीफ सदर अस्पताल में पदस्थापित अस्पताल उपाधीक्षक डॉ कृष्णा ने मामले को गंभीरता से लिया है और मामले की जांच कराने की मांग बिहार के मुखिया नीतीश कुमार से की है.

nalanda
अस्पताल की उपाधीक्षक डॉ कृष्णा ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मामले की जांच करवाने की अपील की है.


'अवैध काम करवाना चाहते थे विधायक'
बताया जा रहा है कि अगर जांच में कुछ भी शिथिलता बरती जाती है तो डॉक्टरों ने हड़ताल पर जाने भी चेतावनी दी है. हड़ताल पर गए चिकित्सकों का आरोप है कि विधायक जी बिना पोस्टमार्टम के नेचुरल डेथ का सर्टिफिकेट देने को कहा इसपर वे राजी नहीं हुए.  ड्यूटी पर तैनात चिकित्सक डॉ पवन कुमार का कहना है कि पोस्टमार्टम की जो प्रकिया है उसे बिना पूरे किए हुए कोई अपना ओपिनियन नही दे सकता है.

जारी रहेगी हड़ताल...
फिलहाल अस्पताल उपाधीक्षक के नेतृत्व में बिहार शरीफ सदर सदर अस्पताल के सभी डॉक्टरों ने ओपीडी सेवा को ठप कर दिया है और सभी हड़ताल पर चले गए हैं. इस संबंध में डॉ कृष्णा ने कहा कि हम सभी डॉक्टर से विनती कर रहे हैं कि वह हड़ताल तोड़ बापस ड्यूटी पर लौट आएं, लेकिन कोई भी मानने को तैयार नहीं है. उन्होंने यह भी कहा कि जब तक विधायक जी माफी नहीं मांगते हैं तब तक हड़ताल जारी रहेगी.

रिपोर्ट- अभिषेक कुमार

ये भी पढ़ें-

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नालंदा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 31, 2019, 4:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...