Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    नीतीश कुमार के गृह जिले में बच्चे की हत्या के बाद बवाल, लोगों ने छीन ली पुलिस की रायफल

    बिहार के नालंदा में हुए बवाल के बाद मामले की जांच के लिए पहुंची पुलिस
    बिहार के नालंदा में हुए बवाल के बाद मामले की जांच के लिए पहुंची पुलिस

    बिहार के नांलदा जिले में हुई हत्या की घटना के बाद लोग खासे आक्रोशित थे. आक्रोशित लोगों ने पुलिस को निशाना बनाते हुए रायफल छीन लिया

    • Share this:
    नालंदा. बिहार में भीड़ ने एक बार फिर से कानून अपने हाथ में लिया है. मामला मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के गृह जिले नालंदा से जुड़ा है जहां लोगों ने बवाल के दौरान पुलिस की रायफल (Police Rifle) तक छीन ली. जिले के करायपशुराय थाना क्षेत्र के जलालपुर गांव में बदमाशों ने एक किशोर का अपहरण करने के बाद उसकी हत्या कर दी. घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंची की आक्रोशित ग्रामीणों ने स्थानीय थानाध्यक्ष और पुलिसकर्मियों पर हत्या करवाने की आरोप लगाकर दो पुलिसकर्मियों का राइफल छीन लिया और फरार हो गए.

    गांव में तनाव

    हत्या की इस घटना के बाद गांव में माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है. घटना की जानकारी मिलते हैं कई थाना की पुलिस समेत हिलसा डीएसपी और पुलिस अधिकारी घटनास्थल के लिए रवाना हो गए हैं. घटना के बारे में बताया जाता है कि करायपशुराय थाना क्षेत्र के जलालपुर निवासी शिशुपाल विश्वकर्मा के छह वर्षीय पुत्र दिलखुश का ज़मीनी विवाद में अपहरण करने के बाद उसकी हत्या कर दी गई. मृतक के पिता शिशुपाल विश्वकर्मा ने बताया कि महज ढाई कट्ठा जमीन को लेकर मेरे बेटे की हत्या कर दी गई है.



    बच्चे का शव मिलते ही आक्रोशित हो गए लोग
    हालांकि फिलहाल इस मामले में पीड़ित पक्ष ने किसी का नाम नहीं लिया है. ग्रामीणों को जैसे ही बालक का शव बरामद होने की सूचना मिली की लोगों में आक्रोश फैल गया और जमकर हंगामा मचाना शुरू कर दिया. इसी दौरान कुछ बदमाशों द्वारा एक पुलिसकर्मी की राइफल भी छीन लिया, हांलाकि बाद में ग्रामीणों ने दोनों राइफल तो लौटा दिया है लेकिन कारतूस नहीं लौटने की बात सामने आयी है.



    डीएसपी ने कहा- लौटा दो हथियार नहीं तो दोषियों पर होगी कार्रवाई

    इस घटना के बाद डीएसपी कृष्ण मुरारी ने कहा कि मामले में परिजनों द्वारा स्थानीय थाना में कांड दर्ज कराया गया था. घटना के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने पुुलिस को निशाना बनाया था लेकिन ग्रामीणों द्वारा छीने गए दोनों हथियार को वापस लौटा दिया गया है लेकिन हथियार का कारतूस नहीं मिला है जिसके लिए लगातार छापेमारी की जा रही है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज