अपना शहर चुनें

States

CM नीतीश के गांव की एक मां अपने बच्चों को बेचना चाहती है, पढ़ें वजह

नीतीश कुमार के गांव की एक महिला मजबूरी में अपने दोनों बच्चों को बेच देना चाहती है.
नीतीश कुमार के गांव की एक महिला मजबूरी में अपने दोनों बच्चों को बेच देना चाहती है.

मामला नालंदा जिले के हरनौत प्रखंड के कल्याण बिगहा गांव का है. बिहार (Bihar) के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) इसी गांव से आते हैं.

  • Share this:
कहा जाता है कि एक मां अपने बच्चों के लिए हर दुख सह लेती है. किसी भी कीमत पर उसे खुद से अलग नहीं होने देती है. बच्‍चे की खुशी और सलामती के लिए वह हर गम उठाने को तैयार रहती है. लेकिन, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) के गांव की रहने वाली एक मां इतनी मजबूर है कि वह अपने दो बच्चों को बेच देना चाहती है.

बेटे-बेटी की लगा दी बोली
मामला नालंदा जिले के हरनौत प्रखंड के कल्याण बिगहा गांव का है. बता दें कि कल्याण बिगहा सीएम नीतीश कुमार का गांव भी है. बताया जा रहा है कि मुफलिसी का जीवन व्यतीत कर रही महिला और उसके बच्चे जब टीबी रोग से ग्रसित हुई तो उसके पति ने भी साथ छोड़ दिया. इसके बाद उसने पहले अपने दुधमुंहे बेटे की कीमत लगा दी, फिर बेटी की भी बोली लगा दी.

बच्चों का इलाज करवाने में असमर्थ
दरअसल, पिछले कई महीनों से महिला और उसके दो बच्चों को टीबी (Tuberculosis) (तपेदिक) हो गया है. वह खुद का और अपने बच्चों का भी इलाज करवाना चाहती है, लेकिन उसके पास पैसे नहीं हैं. इसलिए उसने अपने दोनों बच्चों को बेचने का मन बना लिया.



गांववालों ने महिला को निकाला
मिली जानकारी के अनुसार, गांववालों को जब इस बात का पता लगा तो बजाय मदद करने के उसे गांव से ही बाहर निकाल दिया. डर इस बात का कि कहीं दूसरों को भी टीबी न हो जाए. किसी तरह महिला अपने दोनों बच्चों के साथ अस्पताल पहुंची, जहां मीडिया के पहल पर डीएम ने संज्ञान लिया और तीनों का समुचित इलाज शुरू हो सका.

पति ने भी छोड़ दिया साथ
बताया जा रहा है कि सोनम नाम की इस महिला की शादी 3 साल पहले हरनौत निवासी सुमन्त से हुई थी. उससे उसे एक बेटी हुई, लेकिन पति दुनिया से चल बसा. बच्चे की परवरिश के लिए महिला ने दूसरी शादी की, जिससे 1 बेटा हुआ. पत्नी को जब बीमारी ने जकड़ा तो पति परिवार को छोड़ फरार हो गया. इसके बाद महिला अपने इलाज के लिए दोनों बच्चों को बेचने की तैयारी कर रही थी.

डीएम ने लिया त्वरित संज्ञान
हालांकि, डीएम ने त्वरित कार्रवाई करते हुए एनआरसी केंद्र में इलाजरत इन तीनों को पटना के पीएमसीएच रेफर करवा दिया. बहरहाल स्वास्थ्य व्यवस्था में सुधार और टीबी उन्मूनल के लिए किए जा रहे तमाम दावों के बावजूद सीएम नीतीश कुमार के गांव की एक महिला बीमारी से परेशान होकर अपने बच्चे तक को बेचने पर उतर आए तो शासन पर सवाल तो उठेंगे ही.

रिपोर्ट- अभिषेक कुमार

ये भी पढ़ें-


सुर्खियां: सभी पंचायतों में बनेंगे मॉडल स्कूल, 2 हार्डकोर नक्सलियों ने किया सरेंडर




चिदंबरम की कश्मीर पर टिप्पणी मुस्लिमों को भड़काने के लिए थी: सुशील मोदी

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज