Nalanda News: कोरोना वैक्सीन नहीं ले रहे थे ग्रामीण, इमाम को मस्जिद के लाउडस्पीकर से करनी पड़ी अपील

नालंदा के गांव में कोरोना का टीका लेने के लिए लोगों से अपील करते इमाम

नालंदा के गांव में कोरोना का टीका लेने के लिए लोगों से अपील करते इमाम

Corona Vaccination: नालंदा सीएम नीतीश कुमार का गृह जिला भी है. गांव के मुखिया से लेकर डॉक्टर तक की अपील को लोग लगातार अनसुना कर रहे थे, जिसके बाद इमाम का सहारा लेना पड़ा.

  • Share this:

नालंदा. देश भर में जारी कोरोना वैक्सीनेशन (Corona Vaccination) अभियान के बीच अभी भी कुछ लोगों के मन में टीके को लेकर भ्रम की स्थिति है. लोग इसे लेने से भाग रहे हैं. ऐसी ही एक खबर बिहार के नालंदा (Nalanda) में सामने आई है, जहां गांव के लोगों ने टीका लेने से मना कर दिया. इस प्रकरण के बाद मस्जिद (Mosque) के इमाम की मदद लेनी पड़ी और उनकी अपील के बाद लोग टीका लेने पहुंचे. जिला के सिलाव प्रखंड के सेवैत गांव में काफी दिनों से अल्पसंख्यक समाज के लोगों से कोरोना टीका लेने के लिए अपील की जा रही थी, लेकिन कोई भी ग्रामीण कोरोना टीका लेने को तैयार नहीं हो रहा था. इसके बाद सभी ने थक हार कर इमाम मो अक़वाल हसन को बुलावा भेजा. तब जाकर ग्रामीण टीका लेने के लिए राजी हुए.

बताया जाता है कि सिलाव प्रखंड के अल्पसंख्यक गांव सेवैत में ग्रामीणों द्वारा कोरोना टीका न लेने के बाद बुधवार को पूरा सरकारी महकमा सेवैत गांव पहुंचा, जहां लोगों से काफी देर तक मान-मनौव्वल करते रहे लेकिन उनकी एक न चली. इस बीच अधिकारियों ने थक हार कर इमाम का सहारा लिया.

इमाम ने मस्जिद के लाउडस्पीकर से की अपील

स्थानीय मुखिया से लेकर अधिकारियों और स्वास्थ्य कर्मियों की भी बात जब किसी ने नहीं सुनी तो अंत में इमाम की मदद ली गई. इतना ही नहीं स्थानीय मुखिया द्वारा भी लोगों से घर-घर जाकर अपील करते हुए देखा गया, फिर भी लोग कोरोना का टीका न लेने की जिद पर अड़े रहे. इसके बाद इमाम मो अक़वाल हसन की मदद से गांव की मस्जिद से एनाउंस कराया गया और लोगों से कोरोना टीका लेने के लिए अपील की गई.
स्वास्थ्यकर्मियों को करनी पड़ी कड़ी मशक्कत

इमाम की अपील के बाद कुछ लोगों द्वारा कोरोना टीका लेने की सिलसिला शुरू हो गया. स्थानीय मुखिया फकरु जमां ने भी लोगों से कोरोना टीका लेने के लिए अपील की. लोगों को कोरोना का टीका लेने के लिए प्रखंड विकास पदाधिकारी डॉ अंजनी कुमार, सीडीपीओ कविता कुमारी, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ राहुल कुमार, हेल्थ मैनेजर विपिन कुमार समेत अन्य लोगों ने भी काफी अथक प्रयास किया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज