अस्पताल में हुई घायल महिला की मौत, घरवालों का आरोप- डॉक्टर ने नहीं किया इलाज

घायल महिला का इलाज करता अस्पताल में कार्यरत ऑउट सोर्सिंग का कर्मचारी

घायल महिला का इलाज करता अस्पताल में कार्यरत ऑउट सोर्सिंग का कर्मचारी

मृतका के परिजन बिदेस्वर प्रसाद ने डॉक्टर पर आरोप लगाते हुए कहा कि सदर अस्पताल के डॉक्टर अस्पताल में इलाज करने के बजाय अपने निजी क्लीनिक पर ले जाने के लिए कह रहे थे.

  • Share this:

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जनपद नालंदा के सदर अस्पताल बिहारशरीफ में पदस्थापित डॉ अनिल कुमार पर लापरवाही का आरोप लगा है. जिसके चलते एक महिला की जान चली गई. इतना ही नहीं, सदर अस्पताल बिहारशरीफ में डॉक्टर के बदले अस्पताल में कार्यरत ऑउट सोर्सिंग का कर्मचारी जख्मी महिला का इलाज करते हुए पाया गया. वहीं ज़ख्मी महिला की मौत के बाद आक्रोशित परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा किया और दोषी डॉक्टर के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग पर अड़े हुए हैं.

दीपनगर थाना क्षेत्र के गोलापुर के पास सोमवार को ऑटो पलटने से एक महिला जख्मी हो गई थी. जिसे ग्रामीण ने इलाज के लिए सदर अस्पताल बिहारशरीफ में भर्ती कराया था. जहां महिला का सही इलाज नहीं होने के कारण मौत हो गई.

इस दौरान मृतका के परिजनों ने आरोप लगाते हुए कहा कि सदर अस्पताल बिहारशरीफ में पदस्थापित डॉक्टर अनिल कुमार ने जख्मी का इलाज करने के बदले 12 हजार रुपये की मांग की. बिना रुपये के किसी भी तरह का इलाज नहीं किया. जिससे उसकी मौत हो गई.



मृतका के परिजन बिदेस्वर प्रसाद ने डॉक्टर पर आरोप लगाते हुए कहा कि सदर अस्पताल के डॉक्टर अस्पताल में इलाज करने के बजाय अपने निजी क्लीनिक पर ले जाने के लिए कह रहे थे. परिजनों ने दोषी डॉक्टर को निलंबित करते हुए कार्रवाई करने की मांग की.

वहीं परिजनों के बढ़ते आक्रोश को देखते हुए पुलिस ने सदर अस्पताल को छावनी में तबदील कर दिया है. मौके की नजाकत को देखते हुए अस्पताल से सभी डॉक्टर फरार हो गए हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज