शर्मनाक: नालंदा में छात्रा के रेप के बाद बैठी पंचायत, मामला दबाने के लिए लगी बोली

बिहार के गया में महिला से गैंगरेप . (Demo PIc)

बिहार के गया में महिला से गैंगरेप . (Demo PIc)

बिहार के नालंदा में स्‍थानीय पंचायत (Local Panchayat) ने रेप (Rape) पीड़िता की आबरू की कीमत 41 हजार लगाकर शर्मनाक काम किया है.

  • Share this:
नालंदा. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Chief Minister Nitish Kumar) के गृह जिले नालंदा के नूरसराय थाना क्षेत्र के एक गांव से सनसनीखेज खबर आ रही है, जहां 14 दिन पूर्व एक अधेड़ ने 7वीं कक्षा की छात्रा के साथ रेप (Rape) की घटना को अंजाम दिया. इधर घटना के बाद आरोपी ने पीड़िता को 13 दिनों तक मनाने का काफी प्रयास किया, लेकिन उसने अंततः महिला थाना में केस दर्ज करा दिया. यही नहीं, आरोप है कि अधेड़ को बचाने के लिए स्थानीय पंचायत (Local Panchayat) ने पीड़ित छात्रा की आबरू की कीमत ही लगा दी.

41 हजार में मामले को रफा दफा करने का किया प्रयास

पीड़िता के अनुसार बताया जाता है कि यह घटना नूरसराय थाना क्षेत्र के एक गांव में 26 मई को रात में हुई थी. उस दौरान नाबालिग छात्रा घर में ही सो रही थी और बाकी परिवार के लोग घर के छत पर सो रहे थे. उसी दौरान बदमाश कलिंदर पासवान दीवार फांद कर घर में घुस बच्ची के साथ रेप की घटना को अंजाम देने के बाद आराम से फरार हो गया और इसकी भनक घर में सो रहे परिजनों को नहीं लगी.इधर घटना की जानकारी बदमाश के घर भाग जाने के बाद बच्ची ने अपने माता पिता को बताई, जिसके बाद अगले दिन पंचायत बुलाई गई, जहां बदमाशों ने छात्रा की आबरू की कीमत 41 हजार रुपये लगाई.

पंचायत में पीड़ित परिवार कर रहे थे ये मांग
इधर घटना के बाद पीड़ित परिवारों को कहना है कि जब रेप की घटना को दबाने के लिए पंचायत बुलाई गई थी, तो उस समय हम लोगों ने आरोपी को गांव से बाहर करने की मांग रखी थी, लेकिन आरोपी ने मानने से इंकार कर दिया और लगातार पंचायत बुलाकर घटना को दबाने की प्रयास किया जा रहा था. हालांकि इस मामले में महिला थाना में शिकायत दर्ज करा पीड़ित परिवार के लोग आरोपी की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं. इधर महिला थानाध्यक्ष सीमा कुमारी ने आरोपी को जांच पड़ताल के बाद गिरफ्तार करने की बात कही है. जबकि इस घटना के बाद गांव में तरह-तरह की चर्चाएं हो रही हैं.

आरोपी गांव छोड़ हुआ फरार

इधर घटना के बाद आरोपी गांव छोड़कर फरार हो गया. बताया जाता है कि इस घटना के बारे में स्थानीय पुलिस को भी सूचना नहीं दी गयी थी. जब 13 दिनों बाद महिला थाने में लिखित शिकायत दी तब तक आरोपी घर छोड़कर फरार हो गया. हालांकि कुछ लोगों ने दबी जुबान में बताया कि यह मामला गांव में चर्चा का विषय बना हुआ है. अगर इस तरह की घटना घटी थी तो इसके तुरंत बाद पीड़िता द्वारा स्थानीय थाने में शिकायत क्यों नहीं दर्ज कराई. आरोपी को भागने की मौका क्‍यों दिया.



ये भी पढ़ें

VIDEO...जब अपनी 'बसंती' को पाने को 40 फीट ऊंचे टावर पर चढ़ गया बिहार का 'वीरू!


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज