नालंदा के क्‍वारंटाइन सेंटर में श्रमिक की मौत, 23 मई को दिल्ली से लौटा था बिहार
Nalanda News in Hindi

नालंदा के क्‍वारंटाइन सेंटर में श्रमिक की मौत, 23 मई को दिल्ली से लौटा था बिहार
नालंदा के क्वारेंटाइन सेंटर में श्रमिक की संदेहास्पद मौत

COVID-19: सिविल सर्जन राम सिंह ने न्यूज़ 18 को बताया कि सैंपल जांच के लिए पटना भेज दिया गया है और मामले की जांच की जा रही है.

  • Share this:
नालंदा. बड़ी खबर बिहार के नालंदा जिले के बिहारशरीफ स्थित बाल विकास विद्यालय मोरा तालाब क्‍वारंटाइन सेंटर (Quarantine Center) से आ रही है जहां एक प्रवासी श्रमिक की संदिग्‍ध परिस्थिति में अचानक मौत हो गई. श्रमिक की मौत के बाद पूरे प्रशासनिक और स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया.

घटना की जानकारी मिलते ही प्रशासन और स्वास्थ्य महकमे में खलबली मच गई. सभी अधिकारी आनन-फानन में क्‍वारंटाइन सेंटर पहुंचे और सबसे पहले शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल बिहारशरीफ भेज दिया. इसके साथ ही मृतक सुरेंद्र प्रसाद का कोरोना टेस्ट सैंपल जांच के लिए पटना भेज दिया गया.

23 मई को दिल्ली से लौटा था युवक
जिले के मानपुर थाना क्षेत्र के तियूरी निवासी सुरेंद्र प्रसाद पिछले 23 मई को दिल्ली से बिहारशरीफ पहुंचा था, जहां जिला प्रशासन ने उसे बाल विकास क्‍वारंटाइन सेंटर मोरा तालाब भेज दिया था. रविवार की रात उसकी मौत हो गई.



सिविल सर्जन ने कही यह बात


घटना के बाद सिविल सर्जन राम सिंह ने न्यूज़ 18 को बताया कि बीती देर रात हमलोगों को जैसे ही सूचना मिली कि क्‍वारंटाइन सेंटर में एक श्रमिक की मौत हो गयी तो हमलोग वहां पहुंचे और उसके बेटे से भी पूछताछ की. इसके साथ ही मृतक का कोरोना सैंपल जांच के लिए भी पटना भेज दिया गया है और मामले की जांच की जा रही है. उन्होंने बताया कि उस व्यक्ति को किसी भी तरह का पहले से कोई बीमारी नहीं होने की बात सामने आई है, लेकिन वो क्‍वारंटाइन सेंटर में भेजे जाने के बाद से पिछले कई दिनों से डरा और सहमा हुआ था. सीएस के मुताबिक सुरेन्द्र प्रसाद कई बार क्‍वारंटाइन सेंटर से भाग चुका था.

ये भी पढ़ें- चचरी पुल का उदघाटन करने पहुंचे JDU विधायक, सोशल मीडिया में होने लगे ट्रोल

ये भी पढ़ें- Bihar Live News Update: कोरोना के 65 नए केस मिले, 3872 हुई मरीजों की संख्या
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading