तीन साल से नहीं मिल रही थी सैलरी, डिप्रेशन में आकर टीचर ने की आत्महत्या

कहा जा रहा है कि मृतिका साल 2015 से परवलपुर प्रखंड के मिडिल स्कूल धनामा में शिक्षका के पद पर कार्यरत थी.

News18 Bihar
Updated: December 30, 2018, 3:30 PM IST
News18 Bihar
Updated: December 30, 2018, 3:30 PM IST
बिहार के नालंदा जिले से एक बड़ी खबर सामने आई है, जहां एक शिक्षिका ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. सूचना के बाद मौके पर पहुंची स्थानीय थाना पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. मृतिका की पहचान सुप्रिया सिन्हा के रूप में हुई है. मामले की जांच शुरू कर दी गई है.

जानकारी के मुताबिक, मामला नालंदा जिले के सिलाव थाना क्षेत्र का है. बताया जा रहा है कि शिक्षिका को पिछले तीन साल से बेतन नहीं मिली थी. इससे वह काफी परेशान हो गई थी. कहा जा रहा है कि शिक्षिका डिप्रेशन का शिकार हो गई थी. यही कारण है कि उसने आत्महत्या कर ली. मृतिका की पहचान सीमा गांव निवासी नीरज कुमार सिन्हा की पत्नी सुप्रिया सिन्हा के रूप में हुई है.

कहा जा रहा है कि मृतिका साल 2015 से परवलपुर प्रखंड के मिडिल स्कूल धनामा में शिक्षका के पद पर कार्यरत थी. उसकी तीन साल से सैलरी नहीं आई थी. पुलिस ने फंदे से झूलते हुए शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल बिहारशरीफ भेज दिया. पुलिस ने बताया कि शिक्षिका कई दिनों से डिप्रेशन में थी. फिलहाल, पुलिस पूरे मामले की तहकीकात में जुटी हुई है.

रिपोर्ट- अभिषेक

ये भी पढ़ें- 

देहज लोभी पति ने फोन पर दिया तीन तलाक, केस दर्ज

शादी करने से इनकार करने पर, प्रेमिका के पिता को फसाने के लिए रची साजिश
Loading...

इंदिरा गांधी सबसे बड़ी जुमलेबाजः सिद्धार्थ नाथ सिंह

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के नेता को सात दिन के अदंर जान से मारने की मिली धमकी

बुलंदशहर हिंसाः पुलिसिया कार्रवाई से नाराज ग्रामीणों ने भाजपा विधायक को बनाया बंधक

तमंचे के बल पर विवाहिता से रेप करने के बाद जिंदा जलाया, 12 दिन बाद हुई मौत
First published: December 30, 2018, 3:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...