Patna News: पारस अस्पताल में कोरोना पीड़िता की मौत, बेटी ने लगाया था गैंगरेप की कोशिश का आरोप

अस्पताल प्रशासन का इस बारे में अपना ही तर्क है. उसने आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए इसे बेबुनियाद बताया है.

अस्पताल प्रशासन का इस बारे में अपना ही तर्क है. उसने आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए इसे बेबुनियाद बताया है.

Bihar News: मृतका आंगनबाड़ी सेविका थी और उनका परिवार मूल रूप से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा (Nalanda) का रहने वाला है.

  • Share this:

पटना. बिहार की राजधानी पटना में स्थित पारस अस्पताल (Paras Hospital) में जिस कोरोना पीड़िता से दुष्कर्म (Rape) की कोशिश करने का आरोप लगाया गया था, उसकी मौत हो गई है. अब मामला तूल पकड़ता जा रहा है. मां की मौत के बाद बेटी ने मौत को मर्डर करार देते हुए शास्त्रीनगर थाने में केस दर्ज कराया है. मृतका की बेटी के बयान पर धारा 166 बी एवं 354 और 136 धारा के तहत केस दर्ज किया गया है. मामले में छेड़खानी और हाथ-पैर बांधने की धाराएं भी शामिल की गई हैं. साथ ही पारस हॉस्पिटल के तीन अज्ञात स्टाफ के खिलाफ केस दर्ज (Case Registered) किया गया है.

जानकारी के अनुसार, मृतका आंगनबाड़ी सेविका थी और यह परिवार मूल रूप से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा का रहने वाला है. जानकारी के मुताबिक, पीड़िता की हृदय गति रुकने से मौत हुई है. बेटी ने बताया कि 15 साल पहले ही पिता की मौत हो गई थी. बेटी ने आरोप लगाया है कि 16 मई की शाम 6 बजे और 17 मई की सुबह 11 बजे के बीच पारस अस्पताल में इलाज के दौरान उनकी मां से दुष्कर्म की कोशिश की गई थी. बेटी ने पिछले दिनों बताया था कि उसकी मां को फिलहाल वेंटिलेटर पर रखा गया है और ठीक होने के बाद ही वह सारी चीजों की जानकारी दे पाएगी.

बचाव में अस्पताल प्रशासन

हालांकि, अस्पताल प्रशासन का इस बारे में अपना ही तर्क है. उसने आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए इसे बेबुनियाद बताया है. पीड़िता का कहना है कि पारस हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने उसे यह कहते हुए साइन करवाया कि उनकी मां की हालत खराब है, लेकिन उनकी मां उसके साथ पैदल चल कर आई थी. फिलहाल, पुलिस इस पूरे मामले की छानबीन में जुट गई है और मजिस्ट्रेट भी जिला प्रशासन के निर्देश पर अपने स्तर पर जांच कर रहे हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज