अपना शहर चुनें

States

COVID-19: कई दिनों तक घर में छिपा रहा दुबई से लौटा युवक, खुद तो ठीक हुआ पर 29 को कर गया संक्रमित

दुबई से लौटे एक शख्स ने कोरोना संक्रमण के मामले में बिहारशरीफ को बिहार में अव्वल बना दिया.
दुबई से लौटे एक शख्स ने कोरोना संक्रमण के मामले में बिहारशरीफ को बिहार में अव्वल बना दिया.

COVID-19: 14 अप्रैल को जब युवक की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई तो स्वास्थ्य विभाग व प्रशासन में खलबली मच गई. इसके बाद नालंदा में Coronavirus पॉजिटिव की तादाद लगातार बढ़ती गई.

  • Share this:
नालंदा. कोरोना वायरस के संक्रमण (Coronavirus infection) के मामले में सीवान को पछाड़कर अब नालंदा बिहार में पहले स्थान पर आ गया है. बुधवार को तीन नए लोगों के कोरोना पॉजिटिव होने के साथ ही आंकड़ा 31 तक पहुंच गया. फिलहाल जिला प्रशासन कोरोना संक्रमण के इस चेन को रोकने के लिए हर कदम उठाते हुए एहतियात बरत रहा रहा है. बता दें कि दुबई से बिहारशरीफ लौटे युवक ने अब तक पीएचसी सदर बिहारशरीफ के डॉक्टर समेत कुल 29 लोगों को संक्रमित कर चुका है. इतना ही नहीं, पटना में भी अपने ससुर को संक्रमित किया. इस तरह से एक व्यक्ति ने नालंदा व पटना में कुल 30 लोगों को संक्रमित कर दिया.

ठीक हुआ दुबई से लौटा युवक
फिलहाल उस युवक को मात्र 9 दिन में ही कोरोना पॉजिटिव संक्रमण से ठीक होने के बाद बुधवार को पटना के नालंदा मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (एनएमसीएच) से छुट्टी मिल गयी है, लेकिन उसे 14 दिनों के लिए और क्वारेंटाइन किया गया है. बता दें कि नालंदा जिले में 14 अप्रैल से पहले नगरनौसा व सिलाव प्रखंड क्षेत्र में सिर्फ एक-एक कोरोना पॉजिटिव मरीज मिला था. इसके बाद जिला प्रशासन कोरोना संक्रमण रोकने के लिए लगातार कदम उठा रहा था. 21 मार्च को दुबई से पटना के रास्ते बिहारशरीफ लौटे एक युवक ने सारे किए कराए पर पानी फेर दिया.

दरअसल, वह बिहारशरीफ अपने घर पहुंचा तो प्रशासन को बिना सूचना दिए कई दिनों तक छिपा रहा. इस दौरान जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की टीम काफी मशक्कत के बाद उसे अपने कब्जे में लेकर कोरोना सैम्पल की जांच के लिए पटना भेजा. 14 अप्रैल को जब युवक की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आ गई तो स्वास्थ्य विभाग व प्रशासन में खलबली मच गई. आनन-फानन में युवक के परिवारों की भी कोरोना जांच करवायी गयी. 15 अप्रैल को युवक के परिवार के तीन और लोगों को संक्रमित पाया गया.
निकट के परिजन हुए संक्रमित


संक्रमितों में युवक के माता, पत्नी व भाभी थीं. इसके साथ ही उसने ससुराल पटना में भी अपने ससुर को संक्रमित करते हुए कोरोना पॉजिटिव की श्रेणी में ला दिया. इतना ही नहीं, बिना इलाज किये इनके संपर्क में आने के बाद बिहारशरीफ सदर अस्पताल के प्रभारी डॉक्टर भी संक्रमित हो गये. इसके बाद कोरोना पॉजिटिव की संख्या बढ़ने का जो सिलसिला शुरू हुआ तो वह थमने की नाम नहीं ले रहा है.

थोड़ी सी लापरवाही, बड़ा खतरा!
अब तो नालंदा कोरोना पॉजिटिवों की सबसे अधिक संख्या में धीरे धीरे मुंगेर, बेगूसराय व सीवान को भी पछाड़ते हुए अव्वल स्थान पर आ गया. थोड़ी सी लापरवाही ने जिले को कोरोना पॉजिटिव के क्षेत्र में बिहार में अव्वल बना दिया. जिले में कोरोना पॉजिटिव की लगातार बढ़ती संख्या देख कर जिला प्रशासन ठोस कदम उठाने में अब पीछे नहीं है.

बिहारशरीफ शहर पर ड्रोन कैमरे की नजर


दिन-रात एक कर रहा जिला प्रशासन
कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए बिहारशरीफ शहर में एक एएसपी राजेश कुमार व दो डीएसपी मुकुल रंजन कुमार व अशफाक आलम तथा बीएमपी पुलिसकर्मियों की तैनाती कर दी गयी है. प्रभावित इलाकों में जिला प्रशासन ने सभी रास्तों पर बैरिकेडिंग कर दी है, जिससे बेवजह बाहर निकलने वालों पर अंकुश लगा है.

ये भी पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज